पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

यातायात व्यवस्था को सुधारने के लिए 7 अहम कदम:वाराणसी के ट्रैफिक सिस्टम को दुरुस्त करने के लिए CP ने किया मंथन, खरीदी जाएगी 4 क्रेन; दरोगा देखेंगे चौराहा

वाराणसी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वाराणसी की यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए ट्रैफिक पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक करते पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश। - Money Bhaskar
वाराणसी की यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए ट्रैफिक पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक करते पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश।

त्योहारों के सीजन में वाराणसी की सड़कों पर आमजन को जाम की समस्या से जूझना न पड़े, इसके लिए पुलिस कमिश्नर(CP) ए. सतीश गणेश ने कार्ययोजना बनाई है। ट्रैफिक पुलिस के मातहतों को दो टूक कहा है कि यातायात व्यवस्था को लेकर लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। गौरतलब है कि इसी महीने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को काशी दौरे पर आना है। इसके अलावा काशी में अब सैलानियों की आवाजाही बढ़ रही है। त्योहारों के समय पूर्वांचल से लगायत बिहार, झारखंड और मध्य प्रदेश तक के लोग खरीदारी करने के लिए वाराणसी आते हैं। साथ ही अगले माह देव दीपावली पर शहर में लाखों लोगों का हुजूम उमड़ेगा।

7 प्वाइंट्स में जानें क्या है कमिश्नर का प्लान

  • शहर के सभी प्रमुख चौराहों और तिराहों पर यातायात व्यवस्था की जिम्मेदारी सब इंस्पेक्टर संभालेंगे।
  • ट्रैफिक पुलिस कर्मियों की ड्यूटी एक स्थान पर सिर्फ 15 दिन के लिए लगेगी। कैमरों की मदद से यातायात व्यवस्था और ट्रैफिक पुलिसकर्मी की ड्यूटी की समीक्षा की जाएगी।
  • 3 क्यूआरटी टीम का गठन किया जाएगा जो शहर में जाम लगने की सूचना पर तत्काल मौके पर पहुंचेगी।
  • नो पार्किंग जोन में खड़े होने वाले वाहनों को हटाने के लिए 4 लिफ्टर क्रेन खरीदी जाएगी।
  • ट्रैफिक पुलिस लाइन में कर्मियों की संख्या बढ़ाई जाएगी।
  • रोजाना सुबह ट्रैफिक पुलिसकर्मी अपने ड्यूटी प्वाइंट पर जाएंगे तो उससे पहले ट्रैफिक इंस्पेक्टर उन्हें ब्रीफ करेंगे। ट्रैफिक पुलिसकर्मी अपने जोन के ट्रैफिक इंस्पेक्टर को यातायात संबंधी समस्या बता सकेंगे।
  • ट्रैफिक पुलिस लाइन में उपलब्ध मानव संसाधन और अन्य संसाधनों की प्रति सप्ताह समीक्षा कर उनका शत-प्रतिशत सहयोग किया जाएगा।

आमजन से की सहयोग की अपील

अपर पुलिस उपायुक्त यातायात दिनेश कुमार पुरी ने कहा कि दैनिक भास्कर के माध्यम से आमजन से हमारी अपील है कि ट्रैफिक पुलिस का सहयोग करें। यातायात नियमों का उल्लंघन न करें। नो पार्किंग जोन में अपने वाहन न खड़े करें। ट्रैफिक सिग्नल पर रुक कर लाल और हरी बत्ती देख कर ही आगे बढ़ें। दुकानदार अपनी दुकानों के सामने सड़क पर अतिक्रमण न करें।

शहर के आंतरिक हिस्सों में दिन के समय जरूरी न प्रतीत होने पर अनावश्यक चारपहिया वाहन लेकर न जाएं। अपर पुलिस उपायुक्त यातायात ने कहा कि आमजन के सहयोग के दम पर ही हम शहर के ट्रैफिक सिस्टम को बेहतर बना पाएंगे।

खबरें और भी हैं...