पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वाराणसी...एक की डूबने से मौत, दूसरे ने कूदकर दी जान:BHU का छात्र नाव में चढ़ते समय गंगा में गिरा, संविदा कर्मी ने वरुणा में लगाई छलांग; आर्थिक तंगी से था परेशान

वाराणसी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रणव भारद्वाज। (फाइल फोटो) - Money Bhaskar
प्रणव भारद्वाज। (फाइल फोटो)

वाराणसी में गंगा और वरुणा नदी में BHU का एक छात्र और नगर निगम का संविदा कर्मी डूब गए। BHU का छात्र असावधानी के कारण गंगा में हादसे का शिकार हुआ। वहीं संविदा कर्मी ने आर्थिक तंगी से परेशान होकर वरुणा नदी में छलांग कर दी जान । संविदा कर्मी का शव पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया है। BHU के छात्र की खोजबीन जारी है। भेलूपुर थाने की पुलिस ने स्थानीय गोताखोरों के साथ ही एनडीआरएफ को भी खोजबीन में मदद के लिए बुलाया है।

अस्सी घाट पर गंगा में BHU के छात्र की खोजबीन करते एनडीआरएफ के जवान।
अस्सी घाट पर गंगा में BHU के छात्र की खोजबीन करते एनडीआरएफ के जवान।

आधी रात बाद छात्र गया था अस्सी घाट

BHU के एमपीएमआईआर फाइनल ईयर का छात्र प्रणव भारद्वाज (25) मूल रूप से बिहार के मुजफ्फरपुर का निवासी था। वाराणसी में प्रणव BHU के हैदराबाद गेट के समीप किराये पर कमरा लेकर रहता था। मंगलवार की रात 2 बजे के लगभग प्रणव अपने दोस्त सत्यप्रकाश के साथ अस्सी घाट पर गया था। नाव पर चढ़ने के दौरान प्रणव का पैर फिसला और वह गंगा में गिर गया। जब तक सत्यप्रकाश उसे पकड़ता तब तक वह गंगा के तेज बहाव में बह गया।

सत्यप्रकाश की सूचना पर भेलूपुर थाने की पुलिस आई और बुधवार की सुबह से उसकी खोजबीन का काम शुरू हुआ। प्रणव के परिजनों को पुलिस ने हादसे की सूचना दे दी है। परिजन मुजफ्फरपुर से वाराणसी के लिए रवाना हो गए हैं।

रामू। (फाइल फोटो)
रामू। (फाइल फोटो)

पुल से वरुणा नदी में लगाई छलांग

शिवपुर क्षेत्र के नार्मल स्कूल मैदान निवासी दो बेटों का पिता रामू प्रसाद (43) नगर निगम में संविदा सफाई कर्मी था। बुधवार को रामू ने वरुणा पुल से वरुणा नदी में छलांग लगा दी। स्थानीय लोगों की सूचना के आधार पर पहुंची कैंट थाने की पुलिस रामू को अस्पताल लेकर गई जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस की सूचना पर रामू की पत्नी मंजू और अपने दो पुत्रों सूरज व दीपक के साथ कैंट थाने पहुंचे। सूरज ने बताया कि उसके पिता आर्थिक तंगी की वजह से परेशान रहते थे।

इसी वजह से वह इधर कुछ दिनों से गुमसुम से रहते थे और घर में भी किसी से बहुत अच्छे से बात नहीं करते थे। उधर, कचहरी पुलिस चौकी इंचार्ज राजेंद्र त्रिपाठी ने बताया कि शव का पंचनामा कर परिजनों की तहरीर के आधार पर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

खबरें और भी हैं...