पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57260.580.27 %
  • NIFTY17053.950.16 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47964-0.39 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62820-0.87 %

रामलीला के 18वें दिन भरत को मिले राम:वाराणसी में हो रहा है नाटी इमली का भरत मिलाप; काशी नरेश पहली बार बिना हाथी के पहुंचे

वाराणसीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वाराणसी के नाटी इमली स्थित मैदान में होने वाले विश्व प्रसिद्ध भरत मिलाप मेले में भगवान राम और भरत के प्रेम को देख भाव-विभाेर हुए श्रद्धालु। - Money Bhaskar
वाराणसी के नाटी इमली स्थित मैदान में होने वाले विश्व प्रसिद्ध भरत मिलाप मेले में भगवान राम और भरत के प्रेम को देख भाव-विभाेर हुए श्रद्धालु।

वाराणसी के नाटी इमली का विश्व प्रसिद्ध भरत मिलाप आज; यानि शनिवार को 2 साल बाद बड़े धूम-धाम से आयोजित हुआ। दशहरा के अगले दिन भरत लंका विजयी होकर लाैट रहे भगवान श्री राम से भेंट करते हैं। श्री राम और भरत जब एक-दूसरे से गले लगते हैं तो वहां मैदान से लेकर बिल्डिंगों और मकानों पर खड़ी जनता की तालियों और हर-हर महादेव के जयघोष से गूंज जाता है। 5 मिनट का यह मिलन लाखों लोगों के आंखों को तृप्ति दे जाता है।

इतिहास में जाए तो शेरशाह सूरी और तुलसीदास के काल में सन 1543 में रामलीला की शुरूआत से ही यह भरत मिलाप होता आ रहा है। तुलसी कृत राम चरित मानस के लेखन के पहले से ही यह रामलीला आयोजित की जाती है। यह रामलीला के 18वें दिन की जाती है। इसे वाराणसी का लक्खा मेला भी कहा जाता है। वहीं, इसे दुनिया का सबसे कम समय का लगने वाला बड़ा मेला भी कहा जाता है।

राम, सीता, लक्ष्मण और भरत
राम, सीता, लक्ष्मण और भरत

इस बार नाटी इमली पर भरत मिलाप में काशी नरेश नहीं हाथी से न चलकर अपने कार से आए। चित्रकूट रामलीला समिति के व्यवस्थापक मुकुंद उपाध्याय ने बताया कि पिछले साल कोरोना के कारण उन्हें नाटी इमली के बजाय भरत मिलाप दूसरी जगह करना पड़ा।

राम, सीता और लक्ष्मण
राम, सीता और लक्ष्मण

केवल गले लगने भर के दृश्य को निहारने के लिए दुनिया भर के लाखों लोग नाटी इमली के इस मैदान पर आते हैं।

नाटी इमली मैदान में भरत से मिलने जाती भगवान राम, लक्ष्मण और सीता।
नाटी इमली मैदान में भरत से मिलने जाती भगवान राम, लक्ष्मण और सीता।

इस मेले में हर साल लाखों की संख्या में श्रद्धालु जुटते हैं। इस बार भी कोविड के बावजूद करीब 1 लाख लोगों के आने की बात कही जा रही है।

भगवान राम और सीता।
भगवान राम और सीता।

भरत मिलाप के समय काशी की सभी राम लीलाओं को सम्मान के लिए कुछ देर तक रोक दिया जाता है।

नाटी इमली के मैदान के चारों ओर बड़ी संख्या में लोग जुटे लोग।
नाटी इमली के मैदान के चारों ओर बड़ी संख्या में लोग जुटे लोग।
नाटी इमली के मैदान के चारों ओर बड़ी संख्या में लोग जुटे लोग।
नाटी इमली के मैदान के चारों ओर बड़ी संख्या में लोग जुटे लोग।
खबरें और भी हैं...