पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

CM योगी ने महिलाओं-​​​​​​​दलितों का अपमान किया:अजय लल्लू बोले- झाड़ू लगाना हमारे लिए सम्मान, लखीमपुर खीरी की हिंसा के बाद प्रियंका गांधी की प्रतिज्ञा नहीं किसान न्याय रैली

वाराणसी10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अजय कुमार लल्लू, अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश कांग्रेस।

उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने वाराणसी में कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रियंका गांधी सफाई करने के ही योग्य हैं। उनका यह बयान शर्मनाक है। इस बयान से उन्होंने रोजाना अपने घरों में झाड़ू लगाने वाली माताओं-बहनों के साथ ही गांवों-शहरों में सार्वजनिक स्थान पर सफाई करने वाले दलित भाइयों का अपमान किया है। कांग्रेस पार्टी आज झाड़ू लगाकर यह प्रदर्शित करने का काम रही है कि हम इस काम को भी सम्मान और स्वाभिमान मानते हैं। सम्मान और स्वाभिमान की रक्षा के लिए हम इसी झाड़ू के सहारे इस सरकार को उखाड़ कर फेंक देंगे।

गौरतलब है कि 10 अक्टूबर को वाराणसी के जगतपुर इंटर कॉलेज के खेल मैदान में कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की जनसभा होनी है। पहले इस रैली का नाम प्रतिज्ञा रैली थी। लेकिन, लखीमपुर खीरी में हिंसा में किसानों की मौत के बाद रैली का नाम बदलकर किसान न्याय रैली कर दिया गया है।

वाराणसी में प्रियंका गांधी वाड्रा की रैली के लिए कांग्रेस द्वारा जारी किया गया पोस्टर।
वाराणसी में प्रियंका गांधी वाड्रा की रैली के लिए कांग्रेस द्वारा जारी किया गया पोस्टर।

गांधीजी ने सिखाया था साफ-सफाई के बारे में

अजय कुमार लल्लू ने कहा कि प्रियंका गांधी लखीमपुर खीरी जाकर हिंसा में जान गंवाने वाले किसानों और पत्रकार के पीड़ित परिजनों से मिल कर संवेदना व्यक्त करना चाहती थी। लेकिन उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ की सरकार ने उन्हें 4 दिन तक सीतापुर में हिरासत में रखा। सभी जानते हैं कि हर घर की महिलाएं और बहनें रोजाना सुबह उठ कर अपने घर की सफाई करती हैं।

प्रियंका गांधी ने भी उसी क्रम में अपने कमरे की सफाई की थी। जब साफ-सफाई का वीडियो सामने आया तो प्रियंका गांधी ने कहा कि गांधीजी ने हमें सिखाया है कि हम जहां रहते हैं वहां खुद से साफ-सफाई करनी चाहिए। यह इंसान होने के नाते हमारा कर्तव्य भी है। लेकिन, योगी आदित्यनाथ का बयान कितना शर्मनाक है कि उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी सफाई करने के ही योग्य है।

सरकार अपराधियों को संरक्षण दे रही है

कांग्रेस के प्रदेश अधयक्ष ने लखीमपुर हिंसा के आरोपी केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष की गिरफ्तारी अब तक न होने पर उत्तर प्रदेश सरकार को कटघरे में खड़ा किया। कहा कि ढुलमुल रवैये और अपराधियों को संरक्षण देने से यह स्पष्ट है कि योगी आदित्यनाथ की सरकार उन्हें नहीं पकड़ना चाहती है। मेरा सवाल है कि छोटे-छोटे मामलों में बुलडोजर चलवा देने वाले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कब अजय मिश्रा टेनी के घर पर बुलडोजर चलवाएंगे।

आरोपी का पोस्टर मुख्यमंत्री कब जारी कराएंगे। हत्या की धारा में दर्ज मुकदमे में पुलिस का ऐसा रवैया हमने पहली बार देखा है। यह बेहद ही दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है। उत्तर प्रदेश की जनता सब कुछ देख रही है और आगामी विधानसभा चुनाव में उचित जवाब देगी।

खबरें और भी हैं...