पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पीएम मोदी को BHU करेगा 27 नवंबर को सम्मानित:संस्थान देगा मानद फेलोशिप; बेहतर कोविड मैनेजमेंट के लिए मिल रहा खिताब

वाराणसी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

काशी हिंदू विश्वविद्यालय (BHU) पीएम नरेंद्र मोदी को मानद फेलोशिप देगा। कोविड-19 महामारी में बेहतर मैनेजमेंट के लिए पीएम को चुना गया है। वह 27 नवंबर को वाराणसी में होंगे। संस्थान की ओर बताया गया कि पीएम ने कोविड काल से उबरने के बाद भारत के हेल्थ सिस्टम को बहुत बेहतर कर दिया। वहीं, ऑक्सीजन बैंक से लेकर हाईटेक हॉस्पिटल और उनकी सुविधाओं में कई गुना इजाफा किया गया। वाराणसी के IMS-BHU में राष्ट्रीय चिकित्सा विज्ञान अकादमी के 61वें वार्षिक सम्मेलन 26 से 28 नवंबर के बीच हो रहा है।

तेलंगाना की राज्यपाल और केंद्रीय मंत्री होंगे अतिथि

इस समारोह की मुख्य अतिथि तेलंगाना की राज्यपाल और पुडुचेरी की उपराज्यपाल डॉ. तमिलिसाई सुंदरराजन हैं। वहीं सम्मान समारोह के अतिथि केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री डॉ. भागवत कराड और प्रभारी कुलपति प्रो. वीके शुक्ला होंगे। प्रोफेसर बीआर मित्तल इस सम्मेलन के संरक्षक हैं।

2 दिनों में कुल 10 वैज्ञानिक सत्र
चिकित्सा विज्ञान संस्थान के डीन रिसर्च और आयोजन सचिव प्रो. अशोक कुमार ने बताया कि 2 दिनों में कुल 10 वैज्ञानिक सत्र होंगे। सम्मेलन के दौरान 7 व्याख्यान, 7 पुरस्कार पत्र और 48 पोस्टर प्रस्तुत किए जाएंगे। इसके अलावा टेली मेडिसिन पर संगोष्ठी भी होगी। सतत चिकित्सा शिक्षा पर 1 सत्र रखा गया है, जो मेडिकल सेक्टर के तमाम पहलुओं पर विचार करेगा। इस सम्मेलन में 52 डॉक्टर और वैज्ञानिकों को फेलोशिप दी जाएगी। वहीं, 106 युवा डॉक्टर को सदस्यता प्रदान की जाएगी।

हेल्थ पर बेहतर काम करने पर मिलती है फेलोशिप
राष्ट्रीय चिकित्सा विज्ञान अकादमी की स्थापना 1961 में हुई थी। अकादमी भारत में हेल्थ सर्विसेज की योजनाओं और मैनेजमेंट में बड़ी भूमिका निभाता है। भारत में स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी और उनके अग्रणी योगदान के लिए लोगों को इसकी मानद फेलोशिप दी जाती है। अकादमी के वर्तमान अध्यक्ष प्रोफेसर सरोज सी. गोपाल और सचिव प्रोफेसर डीके गुप्ता हैं।

खबरें और भी हैं...