पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर CM के सामने पहुंचे फाइटर प्लेन:आसमान में खाते रहे कलाबाजियां, एयर स्ट्रिप पर हेलिकॉप्टर से उतरे मुख्यमंत्री, 20 मिनट तक लिया जायजा

सुल्तानपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सुल्तानपुर में पूर्वांचल एक्स्प्रेस-वे की एयर स्ट्रिप पर हेलिकॉप्टर से उतरे। उन्हीं के सामने तीन लड़ाकू विमान भी पहुंचे। सीएम जायजा लेते रहे, तब तक प्लेन आसमान में कलाबाजियां खाते रहे। इस दौरान लोगों ने दूर से इस नजारे का आनंद लिया।

गोसाईगंज थाना क्षेत्र के अरवल कीरी करवत गांव में मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के किनारे बनाए गए पीएम के कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण किया। इसके बाद सीएम ने डीएम रवीश गुप्ता और एसपी विपिन मिश्र समेत अन्य अफसरों के साथ समीक्षा बैठक की।

16 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का लोकार्पण करेंगे। इस दौरान करीब 30 लड़ाकू विमान आसमान में करतब दिखाएंगे। यह एयर शो आकर्षण का केंद्र रहेगा। इसमें राफेल, सुखोई, मिराज जैसे फाइटर प्लेन होंगे। इस दौरान सुखोई, मिराज, जगुआर, ट्रांसपोर्ट विमान C130 J लैंड करेंगे। टंच एंड गो ऑपरेशन के तहत फाइटर प्लेन एयर स्ट्रिप से टच करते ही तुरंत उड़ेंगे।

शुक्रवार को पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर बनी एयर स्ट्रिप पर ट्रायल के लिए 3 लड़ाकू विमान पहुंचे।
शुक्रवार को पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर बनी एयर स्ट्रिप पर ट्रायल के लिए 3 लड़ाकू विमान पहुंचे।
सुल्तानपुर में कुरेभार गांव के नजदीक 3.2 किलोमीटर लंबा रनवे बनाया गया है।
सुल्तानपुर में कुरेभार गांव के नजदीक 3.2 किलोमीटर लंबा रनवे बनाया गया है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 16 नवंबर के कार्यक्रम के लिए पंडाल सजकर तैयार हो गया है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 16 नवंबर के कार्यक्रम के लिए पंडाल सजकर तैयार हो गया है।

सीएम योगी आदित्यनाथ के भाषण की 7 बड़ी बातें

  1. पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का लोकार्पण 16 नवंबर को प्रधानमंत्री के हाथों होने जा रहा है।
  2. साल 2018 में इसका लोकार्पण प्रधानमंत्री ने ही किया था, कोरोना महामारी के बावजूद ये एक्सप्रेस वे 19 महीनों में तेज़ी से पूरा हुआ।
  3. प्रधानमंत्री के 1 ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था के लक्ष्य को पूरा करने के लिए हमने इसे ध्यान में रखकर तैयार किया है।
  4. बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे अगले महीने में पूरा कर लेंगे। पूर्वी उत्तर प्रदेश को इससे जोड़ने में सहायता मिलेगी, लोगों मे उत्साह है।
  5. 16 तारीख को प्रधानमंत्री के लोकार्पण के बाद एक एयरशो भी होगा।
  6. हमने यहां 3.5 किलोमीटर का एयरस्ट्रिप बनाया है।
  7. आज़ादी के बाद पूर्वांचल उपेक्षित था, अब इस एक्सप्रेस वे से विकास को रफ्तार मिलेगी।

10 तस्वीरों में देखिए...अब तक की तैयारियां और जानिए कब, क्या, कैसे होगा ...

सुल्तानपुर में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर एयरफोर्स के लड़ाकू विमानों की लैंडिंग और टेक ऑफ की तैयारी पूरी कर ली गई है। यह ट्रायल 13 नवंबर से शुरू होगा और 4 दिन तक चलेगा।
सुल्तानपुर में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर एयरफोर्स के लड़ाकू विमानों की लैंडिंग और टेक ऑफ की तैयारी पूरी कर ली गई है। यह ट्रायल 13 नवंबर से शुरू होगा और 4 दिन तक चलेगा।
एक्सप्रेस-वे एयर स्ट्रिप पर लैंडिंग के लिए एयरफोर्स के 5 बड़े एयरबेस से करीब 30 लड़ाकू विमान उड़ान भरेंगे। रक्षा सूत्रों के मुताबिक, 16 नवंबर को पीएम नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में एयरफोर्स के सुखोई-30 एमकेआई, सी-130 जे सुपर हरक्युलिस जैसे विमान लैंड करेंगे।
एक्सप्रेस-वे एयर स्ट्रिप पर लैंडिंग के लिए एयरफोर्स के 5 बड़े एयरबेस से करीब 30 लड़ाकू विमान उड़ान भरेंगे। रक्षा सूत्रों के मुताबिक, 16 नवंबर को पीएम नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में एयरफोर्स के सुखोई-30 एमकेआई, सी-130 जे सुपर हरक्युलिस जैसे विमान लैंड करेंगे।
राजस्थान के बाड़मेर की तरह यहां भी सीधे ही एक्सप्रेस-वे के रनवे पर सुपर हरक्युलिस में पीएम मोदी के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के लैंड करने की खबर है। वह गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस से उड़ान भरेंगे।
राजस्थान के बाड़मेर की तरह यहां भी सीधे ही एक्सप्रेस-वे के रनवे पर सुपर हरक्युलिस में पीएम मोदी के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के लैंड करने की खबर है। वह गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस से उड़ान भरेंगे।
लखनऊ से गाजीपुर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निर्माण करीब पांच साल पहले शुरू हुआ था। इस एयर स्ट्रिप के बनने के बाद एक्सप्रेस वे पर 3-3 एयर स्ट्रिप वाला यूपी देश का पहला राज्य बन गया है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे देश की राजधानी दिल्ली को मथुरा, आगरा, लखनऊ, आजमगढ़ के रास्ते सीधे गाजीपुर से जोड़ेगा।
लखनऊ से गाजीपुर पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का निर्माण करीब पांच साल पहले शुरू हुआ था। इस एयर स्ट्रिप के बनने के बाद एक्सप्रेस वे पर 3-3 एयर स्ट्रिप वाला यूपी देश का पहला राज्य बन गया है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे देश की राजधानी दिल्ली को मथुरा, आगरा, लखनऊ, आजमगढ़ के रास्ते सीधे गाजीपुर से जोड़ेगा।
एक्सप्रेस-वे पर बनी यह एयर स्ट्रिप करीब 3.5 किमी लंबी है। एयर स्ट्रिप के दोनों किनारों पर 15-15 मीटर के बॉर्डर बनाए गए हैं। एयर स्ट्रिप के दोनों किनारों पर सर्विस लेन बनाए गए हैं।
एक्सप्रेस-वे पर बनी यह एयर स्ट्रिप करीब 3.5 किमी लंबी है। एयर स्ट्रिप के दोनों किनारों पर 15-15 मीटर के बॉर्डर बनाए गए हैं। एयर स्ट्रिप के दोनों किनारों पर सर्विस लेन बनाए गए हैं।
एयर स्ट्रिप से सटे जिस स्थान पर पीएम की जनसभा होनी है, वहां 85 मीटर लंबा स्टेज बनाया जा रहा। इसके बाद 155 मीटर लंबी गैलरी रहेगी। उसके बाद 600 मीटर के स्पेस में लगभग 45 से 50 हजार कुर्सियां लगाई जाएंगी।
एयर स्ट्रिप से सटे जिस स्थान पर पीएम की जनसभा होनी है, वहां 85 मीटर लंबा स्टेज बनाया जा रहा। इसके बाद 155 मीटर लंबी गैलरी रहेगी। उसके बाद 600 मीटर के स्पेस में लगभग 45 से 50 हजार कुर्सियां लगाई जाएंगी।
मोदी की सभा में शामिल होने के लिए करीब 2 लाख लोगों को लाया जाएगा। DM ने 2 हजार बसें उपलब्ध कराने को कहा है। बसों पर खर्च होने वाली रकम का भुगतान उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवेज औद्योगिक विकास प्राधिकरण (UPEIDA) करेगा।
मोदी की सभा में शामिल होने के लिए करीब 2 लाख लोगों को लाया जाएगा। DM ने 2 हजार बसें उपलब्ध कराने को कहा है। बसों पर खर्च होने वाली रकम का भुगतान उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवेज औद्योगिक विकास प्राधिकरण (UPEIDA) करेगा।
अमेठी, सुल्तानपुर, अंबेडकर नगर, अयोध्या, आजमगढ़ और गाजीपुर तक से कार्यक्रम में भीड़ लाई जाएगी। जिले में भीड़ जुटाने की जिम्मेदारी डीपीआरओ को दी गई है। डीपीआरओ ने ग्राम प्रधानों को भीड़ का दायित्व सौंपा है।
अमेठी, सुल्तानपुर, अंबेडकर नगर, अयोध्या, आजमगढ़ और गाजीपुर तक से कार्यक्रम में भीड़ लाई जाएगी। जिले में भीड़ जुटाने की जिम्मेदारी डीपीआरओ को दी गई है। डीपीआरओ ने ग्राम प्रधानों को भीड़ का दायित्व सौंपा है।
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के रनवे पर लैंडिंग के लिए भारतीय वायुसेना के 5 बड़े एयरबेस से विमान उड़ान भरेंगे। यहां पर भारत अपनी हवाई ताकत की दुनिया के सामने नुमाइश करेगा।
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के रनवे पर लैंडिंग के लिए भारतीय वायुसेना के 5 बड़े एयरबेस से विमान उड़ान भरेंगे। यहां पर भारत अपनी हवाई ताकत की दुनिया के सामने नुमाइश करेगा।
लखनऊ के बख्शी का तालाब से किरण मार्क-2 उड़ान भरेगा। बरेली से सुखोई-30 एमकेआई उड़ान भरेगा। ग्वालियर से मिराज, गोरखपुर से जगुआर और आगरा से एएन-32 विमान के उतारने की तैयारी की गई है।
लखनऊ के बख्शी का तालाब से किरण मार्क-2 उड़ान भरेगा। बरेली से सुखोई-30 एमकेआई उड़ान भरेगा। ग्वालियर से मिराज, गोरखपुर से जगुआर और आगरा से एएन-32 विमान के उतारने की तैयारी की गई है।
खबरें और भी हैं...