पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सुल्तानपुर ब्लॉक सचिव ले रहीं रिवाल्वर की ट्रेनिंग:बोलीं-ये बच्चों की खिलौना बंदूक है; असलहा का सार्वजनिक प्रदर्शन है गैर कानूनी

सुल्तानपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सुल्तानपुर के कुड़वार ब्लॉक की महिला सचिव का वीडियो सामने आया है। वो खुलेआम रिवाल्वर से गोली चला रही हैं। जबकि लाइसेंसी असलहा से खुलेआम फायरिंग गैर कानूनी है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा वीडियो लखनऊ नेशनल हाईवे का बताया जा रहा है। वीडियो के बारे में सचिव ने कहा कि ये असली रिवाल्वर नहीं है। बल्कि बच्चों की खिलौना बंदूक है। अब पूरे मामले की जांच पुलिस कर रही है।

पीछे खड़ा शख्स बताता रहता है कि कैसे चलानी है

तस्वीर में दिख रही महिला कुड़वार ब्लॉक की सचिव हैं।
तस्वीर में दिख रही महिला कुड़वार ब्लॉक की सचिव हैं।

महिमा सिंह कुड़वार ब्लॉक में सचिव हैं। उनका वीडियो कुछ इस तरह का है, जैसे वो ट्रेनिंग ले रही हैं। एक शख्स बैक ग्राउंड में उन्हें गोली चलाने के बारे में बता रहा है। उन्हीं शब्दों को सुनते हुए महिमा हवा में गोली चलाती हैं। चंद सेकंड का ये वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

इस बारे में महिमा का पक्ष बहुत रोचक सामने आया। फोन करने पर उन्होंने कहा- वीडियो देखकर गलतफहमी हो रही है। ये कोई असली रिवाल्वर नहीं है। बच्चों का खिलौना बंदूक है। इसको बेवजह तूल दिया जा रहा है। उनके बयान से वीडियो थोड़ा जुदा है। क्योंकि असली रिवाल्वर की तरह उनके हाथ को झटका लगता है। रिवाल्वर से धुआं और आवाज असली असलहे की तरह लग रही है।

तीन से दस साल की हो सकती है सजा
लाइसेंसी असलहा का सार्वजनिक प्रदर्शन पूरी तरह से गैर कानूनी है। फिर चाहे सोशल मीडिया पर ही क्यों न किया तस्वीर या वीडियो पोस्ट किया गया हो। ऐसा करना असलहा लाइसेंस जारी करने के लिए तय शर्तों के उल्लंघन एवं असलहे के दुरुपयोग की परिधि में आता है।

सोशल मीडिया पूरी तरह से सार्वजनिक मंच है। लिहाजा वहां असलहा के साथ फोटो टैग करना सार्वजनिक प्रदर्शन के दायरे में आता है। ऐसा करने वालों के खिलाफ आर्म्स एक्ट की धारा 3/27 के तहत मुकदमा दर्ज करने का प्रावधान है। इसमें आरोपी को 3 साल से 10 साल तक की जेल हो सकती है। इस कानून में असलहा लाइसेंस अनिवार्य रूप से निरस्त करने का भी निर्देश हैं।

खबरें और भी हैं...