पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सुल्तानपुर में पूर्व विधायक चंद्रभद्र सिंह समेत 6 पर मुकदमा:प्रधान ने जालसाजी की शिकायत की थी, एक महीने में पुलिस ने की तीसरी कार्रवाई

सुल्तानपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुल्तानपुर के पर्व विधायक चंद्रभान सिंह सोनू। - Money Bhaskar
सुल्तानपुर के पर्व विधायक चंद्रभान सिंह सोनू।

पूर्व विधायक चंद्रभद्र सिंह सोनू पर पुलिस ने एक और मुकदमा दर्ज कर लिया। धनपतगंज थाने में विधायक समेत 6 के विरुद्ध जालसाजी का केस दर्ज हुआ है। 23 मई से अब तक विधायक पर यह तीसरी FIR हुई है।

रामदेव निषाद धनपतगंज के मायंग गांव के प्रधान हैं। उनका आरोप है कि प्रधान और सेक्रेटरी के हस्ताक्षर से बैंक में विभिन्न योजनाओं का खाता खुलवाया गया था। इसके बाद से कभी उनका हस्ताक्षर नहीं करवाया गया।

सारे कागजात और खाते की देखभाल गांव के पूर्व विधायक चंद्रभद्र सिंह सोनू, सूर्यप्रकाश सिंह, रोशन सिंह, उदय प्रताप यादव निवासी मायंग, हृदयराम यादव निवासी भरसड़ा और सेक्रेटरी प्रदीप सिंह मिलकर कर रहे हैं। प्रधान का आरोप है कि सेक्रेटरी पूर्व विधायक के रिश्तेदार होने के साथ कई वर्ष से एक ही जगह पर तैनात हैं।

ग्राम प्रधान के मुताबिक सेक्रेटरी और पूर्व विधायक धोखाधड़ी करके योजनाओं का पैसा हड़प लेते हैं। सरकारी योजनाओं का कार्य भी नहीं हो पा रहा है। प्रधान रामदेव निषाद ने पूर्व विधायक से अपनी जान को भी खतरा बताया है।

धनपतगंज थाने के प्रभारी श्रीराम पांडेय ने बताया कि प्रधान रामदेव निषाद की तहरीर पर पूर्व विधायक समेत 6 लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कर विवेचना की जा रही है।

20 जून को दर्ज हुआ था केस
इससे पहले 20 जून को धनपतगंज थाना क्षेत्र के मायंग निवासी बैजनाथ निषाद की तहरीर पर पूर्व विधायक चंद्रभद्र सिंह सोनू, रोशन सिंह व पप्पू सिंह पर केस दर्ज हुआ था। शिकायतकर्ता बैजनाथ ने आरोप लगाया था कि पट्टीदार फूलचंद निषाद के घर का पानी उसके घर से बह रहा है।

इसे बंद करने के लिए उसने फूलचंद से कहा भी लेकिन, उसने सुना नहीं। अब यह आरोपी घर पर आकर नाली खुला रखने की धमकी दिया था। पूर्व विधायक पर आरोप लगा था कि उन्होंने घर गिरवा देने की धमकी दिया था।

23 मई को भी दर्ज हुआ था केस
इससे पहले 23 मई को पूर्व विधायक के परिवार के सदस्य सूर्यभद्र सिंह पुत्र रणभद्र सिंह, मणिभद्र सिंह पुत्र जयभद्र सिंह व भूभद्र सिंह पुत्र भौभद्र सिंह निवासी मायंग ने धनपतगंज थाने में केस दर्ज कराया था।

जिसमें आरोप लगाया गया था कि पूर्व विधायक दबंग व आपराधिक प्रवृति के व्यक्ति हैं। चंद्रभद्र सिंह से पैतृक पुरानी आबादी व मकान का बंटवारा हो चुका है। बावजूद इसके 19 मई को जमीन पर उनके द्वारा कब्जा किया गया।

जबकि प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा उन्हें रोका गया। पूर्व विधायक शिकायतकर्ता व पूरे गांव के आने जाने वाली हजारों वर्ष पुरानी सड़क पर दीवार बनाकर मार्ग अवरुद्ध कर रहे हैं। मना करने पर उन्होंने गाली-गलौज भी किया। शिकायतकर्ताओ ने पूर्व विधायक को गैंगेस्टर अपराधी बताते हुए उन्हें जान का खतरा बताया था।