पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लम्भुआ में बल्ली के सहारे बिजली:आधा दर्जन गांवों मे बल्ली के सहारे चल रही बिजली व्यवस्था, लटक रहे तार, आंधी में उखडे पोल अभी तक नही सुधारे गये

लम्भुआएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लंभुआ विस क्षेत्र के गौरा , पाल्हनपुर, अभियाकला, बेलासदा, टोडरपुर, हनुमानगंज सहित कई गांव में लकड़ी के खम्भे के सहारे 11000 की मेन लाइन दौडाई गयी है। बीते दिनों तेज आंधी के कारण कई खंभे उखड़ गए जो तार के सहारे रूके हुए है। वही नरहरपुर से पाण्डेपुर में ट्रांसफार्मर तक आने वाले मेन लाइन के तार इस कदर ढीले हो गये हैं उसके नीचे मजदूर जान हथेली पर लेकर कार्य करने को मजबूर है।

ग्रामीणों ने जिला अधिकारी से विद्युत लाइन को ठीक करवाने की मांग की

तहसील लंभुआ के भदैया विकास खण्ड के गौरा पाल्हनपुर, हनुमानगंज, जूड़ारा, महानंदपुर, पखरौली, सलाहपुर, अभियाकला सहित ग्राम पंचायत में 400 केवी पयागीपुर से बिजली की सप्लाई की जा रही है। गौरा गांव में ही कस्बे में रामबली के खेत में लगे लकड़ी के पोल जर्जर हालत में है। बीते पखवारे आंधी पानी के आने के चलते तीन लकड़ी के पोल उखड़ गए, जो तार के सहारे लटका लटका हुआ है।

मेन लाइन हो गई है ढीली

आबादी के बीच से गुजर रहे यह खंभा कभी भी गिरकर दुर्घटना का सबब बन सकता है ,तो वही नरहरपुर से पांडेपुर में स्थित ट्रांसफार्मर में 11000 की मेल लाइन इस कदर ढीली हो गई है कि लोगों के आने-जाने पर सिर सामान आने जाने पर छूने की आशंका बनी हुई है।

वही तालाब में मनरेगा में काम जारी है मनरेगा के मजदूर अपनी जान हथेली पर रखकर काम करने को मजबूर हैं। जो कभी भी बड़ा हादसा होने की संभावना बनी हुई है। ग्रामीणों की शिकायत के बाद भी बीते कई वर्षों से तारों को कसा नहीं जा सका। थक हार कर ग्रामीणों ने जिलाधिकारी से ढीले तारों को दुरुस्त कराए जाने की मांग की है जिससे भविष्य में दुर्घटनाओं से बचा जा सके। अभियंता अनिल कुमार ने बताया कि धीरे धीरे लाइनो को सही किया जा रहा है। जहां दिक्कत है वहां प्राथमिकता के आधार पर समस्या निपटाई जा रही है।

खबरें और भी हैं...