पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

करंट की चपेट में आने से मवेशी की मौत:मोतिगरपुर में तीन महीने से खेत में टूटा पड़ा है तार, जेई बोले- मुझे जानकारी नहीं

जयसिंहपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सुलतानपुर के बिजली उपकेंद्र मोतिगरपुर में बिजली कर्मियों की लापरवाही सामने आई है। करीब तीन माह पहले टूटकर गिरा 440 वोल्ट बिजली का तार आज भी टूटा पड़ा है। जो लगातार हादसे का सबब बना हुआ है। इसके चलते खेत में चर रही किसान की भैंस करंट की चपेट में आ गई। इससे उसकी मौत हो गई। बिजली विभाग की लापरवाही से ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।

पांडेयबाबा फीडर से होती है सप्लाई

मामला मोतिगरपुर थाना क्षेत्र के बढ़ौनाडीह गांव का है। यहां बिजली आपूर्ति ढेमा के मोतिगरपुर उपकेंद्र के पांडेयबाबा फीडर से होती है। सोमवार की सुबह करीब 9 बजे कादीपुर के घूरीपुर निवासी शीतला प्रसाद सिंह की भैंस बढ़ौनाडीह रामसागर मौर्य के खेत के पास चर रही थी। इसी बीच वह पहले से खेत में गिरे बिजली के तार की चपेट में आ गई। बुरी तरह झुलसने की वजह से भैंस की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

जिम्मेदार आपूर्ति बन्द करने की कह रहे बात

ग्रामीणों का आरोप है कि करीब तीन महीने से बिजली का तार टूट कर गिरा है। कई बार विभागीय कर्मचारियों को बताने के बाद भी तार को हटाया नहीं गया। उधर, बिजली विभाग के अधिकारी तार में आपूर्ति बन्द करने की बात कह रहे हैं। बावजूद इसके तार में आपूर्ति कैसे चल रही थी इसे बताने वाला कोई नहीं है। जेई रामशरण त्यागी ने बताया कि अभी मामले की जानकारी नहीं है। पता करने के बाद ही कुछ बता पाएंगे।

खबरें और भी हैं...