पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उपजिलाधिकारी कार्यालय के सामने आत्मदाह का प्रयास:विद्युत विभाग के जेई पर पीड़ित ने लगाया पैसे मांगने का आरोप, एसडीएम ने जांच के दिए आदेश

सिधौली, सीतापुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सीतापुर जिले की सिधौली तहसील में विद्युत विभाग के जेई पर पैसे मांगने का आरोप लगाते हुए एक व्यक्ति ने उपजिलाधिकारी के कार्यालय पहुंच कर डीजल डालकर आग लगाने का प्रयास किया। उपस्थित अधिवक्ताओं एवं होमगार्ड की तत्परता के चलते व्यक्ति की जान बच गई।

पीड़ित ने किया आत्मदाह का प्रयास

प्राप्त जानकारी के अनुसार सिधौली कस्बे के विवेक नगर मोहल्ला निवासी पवन कुमार रस्तोगी पुत्र लक्ष्मीनारायण रस्तोगी दोपहर करीब 1:50 बजे उपजिलाधिकारी कार्यालय पर दस लीटर डीजल का केन लेकर पहुंचा। एसडीएम कार्यालय के नजदीक पहुंचने पर डीजल को अपने शरीर पर डालकर आग लगाने का प्रयास किया।

होमगार्ड एवं अधिवक्ताओं ने बचाई जान

इस दौरान कार्यालय के निकट मौजूद होमगार्ड एवं अधिवक्ताओं ने डीजल का केन उसके हाथों से छीनकर उसे आग लगाने से रोक दिया। अधेड़ रो-रोकर विद्युत जेई विरेन्द्र एवं मीटर रीडर संदीप पर पैसे मांगने का आरोप लगाया। शोर सुनकर मौके पर पहुंचे उपजिलाधिकारी पंकज प्रकाश राठौर ने पीड़ित को आश्वासन देकर शांत कराया।

पीड़ित ने बताया कि उसके दोनों गुर्दे खराब हैं। उसका इलाज हिन्द अस्पताल में चल रहा है।आज उसकी डायलिसिस हो रही थी तभी पता चला कि उसकी दुकान जो कि बाजार मोहल्ले में है उसका विद्युत कनेक्शन गलत तरीके से विद्युत कर्मियों द्वारा काट दिया गया है।

पीड़ित ने बताया कि जेई व मीटर रीडर बार बार उसे टॉर्चर कर रहे हैं और अठारह हजार रुपए की मांग कर रहे हैं। पीड़ित के पास पैसे नहीं हैं। जो वह उन्हें दे सके इसलिए वह उपजिलाधिकारी के कार्यालय के सामने जान देने आया है। वह बहुत परेशान है।

जेई विरेन्द्र कुमार ने बताया कि पवन कुमार रस्तोगी ने एक किलोवाट का कनेक्शन ले रखा है और लोड तीन किलोवाट से अधिक है। इसकी कई बार चेतावनी दिए जाने के बाद कार्रवाई की गई है।

उपजिलाधिकारी ने पीड़ित को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया एवं नायब तहसीलदार की अध्यक्षता में टीम गठित कर घटना की जांच के आदेश दिए हैं।

खबरें और भी हैं...