पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सीतापुर...लकड़ी के खोखे में लगी आग, जिंदा जला व्यक्ति:खेत के पास लकड़ी के खोखे में रह करता था रखवाली, आग से जलकर हुई मौत

सीतापुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सीतापुर में लकड़ी के खोखे में लगी आग, जिंदा जला व्यक्ति। - Money Bhaskar
सीतापुर में लकड़ी के खोखे में लगी आग, जिंदा जला व्यक्ति।

सीतापुर जिले में बुधवार को लकड़ी के खोखे में सोए एक व्यक्ति का संदिग्ध परिस्थितियों में जला हुआ शव बरामद हुआ। स्थानीय लोगों ने खोखे में आग लगाकर हत्या किए जाने की आशंका जताई है। मृतक दुकान में ही अपना बसेरा बनाए हुए थे और मजदूरी करके अपना पेट पालता था, लेकिन सुबह जब ग्रामीणों ने खोखे की राख और व्यक्ति का शव देखा तो वह दंग रह गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

पांच साल से गांव में रह रहा था व्यक्ति

बता दें मामला पिसावां थाना क्षेत्र के ठकुरे गांव का है। यहां लखीमपुर खीरी के चिकना गांव निवासी अनिल (48) बीते 5 वर्षों से कठिना नदी के किनारे खेत में ही एक दुकान में रहता था। मिली जानकारी के मुताबिक अनिल 5 वर्षों से मनोज वर्मा के केले की फसल की रखवाली करता था। इसीलिए अनिल ने काफी समय पहले ही लकड़ी के खोखे को रखवाया था, जिसमें खेत सींचने के लिए प्लास्टिक की 300 मीटर पाइप, खाने के बर्तन, गैस चूल्हा और सोने के लिए बिस्तर आदि चीजे उसी में रखता था।

रोशनी के लिए मोमबत्ती का इस्तेमाल करता था व्यक्ति

स्थानीय लोगों के मुताबिक अनिल कभी-कभी शराब का भी सेवन करता था। बीती रात अज्ञात कारणों के चलते खोखे में आग लग गई और अनिल की जलकर मौत हो गयी। आज सुबह जब ग्रामीणों ने खोखे की राख और अनिल को मृत देखा तो उनके होश फाख्ता हो गए। उन्होंने मामले की जानकारी पुलिस को दी। ग्रामीणों के मुताबिक, अनिल खोखे में रोशनी के लिए मोमबत्ती का भी इस्तेमाल करता था तो यह भी आशंका व्यक्त की जा रही है कि शायद आग लगने से उसकी जिंदा जलकर मौत हो गई है।

मृतक के परिजनों को दी सूचना

घटना की जानकारी पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का जायजा लिया और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस का कहना है कि स्थानीय लोग हत्या और हादसा दोनों की आशंका व्यक्त कर रहे हैं। एसआई मनोज कुमार का कहना है कि मृतक के परिजनों को सूचना भेज दी गई है और उनके आने के उपरांत जो भी तहरीर वह देंगे, उसी के अनुसार मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।