पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बार-बार मौके नहीं दिए जाते, अब्बू माफ कर देना...:सोशल मीडिया पर पोस्ट लिखकर युवक ने किया सुसाइड, कमरे में फांसी पर लटकता मिला शव

सीतापुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

'अब्बू माफ कर देना। आपने हमको बहुत मौके दिए, सही रास्ते पर चलने के लिए। हम आपके बताए रास्ते पर चल न सके। आपकी नाराजगी भी सही है। बार-बार मौके नहीं दिए जाते। अब्बू माफ कर देना और चाचा जी आप भी माफ कर देना।' यह पोस्ट सीतापुर के एक युवक ने सोशल मीडिया पर किया। इसके करीब 5 घंटे बाद उसका फांसी के फंदे से लटकता मिला। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस का कहना है कि मामले की छानबीन की जा रही है।

किराए पर रहता था युवक
घटना शहर कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला कजियारा इलाके की है। यहां खैराबाद थाना क्षेत्र के मोहल्ला शेख सरायं निवासी 23 वर्षीय सुहैल अहमद पुत्र मुन्ना का कमरे में फांसी के फंदे पर लटकता हुआ मिला। मकान मालिक इकबाल अहमद ने बताया कि सुहैल उनके मकान में किराए पर रहता था और उसकी बहन की शादी होने वाली है।

मरने से पहले युवक ने सोशल मीडिया पर यह पोस्ट किया।
मरने से पहले युवक ने सोशल मीडिया पर यह पोस्ट किया।

मकान मालिक को शव लटकता मिला
उन्होंने बताया कि सुहैल से मकान खाली करने को कहा था और सुहैल ने मकान खाली भी कर दिया था, लेकिन कमरे में उसका फ्रिज तथा इनवर्टर लगा हुआ था। इस कारण ताले की चाबी उसके पास थी। मकान मलिका का कहना है कि कल वह मकान में आया था। मकान मालिक ने कमरे का दरवाजा खटखटाया। जब कई घंटों तक दरवाजा नहीं खुला तो उसने खिड़की से देखा। कमरे में सुहैल का शव लटक रहा था।

घटना के पीछे का कारण साफ नहीं
घटना की जानकारी पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। घटना के पीछे कारण अभी साफ़ नहीं हो सका है लेकिन फेसबुक पोस्ट से अंदाजा लगाया जा रहा है कि युवक का चाल-चलन ठीक नहीं था जिसके चलते उसका परिवार उसे काफी समझा चुका था। उसने अपना रास्ता नही बदला था। फेसबुक पर लिखी पोस्ट में युवक ने पिता और चाचा से मांफी मांगने के बाद आत्महत्या का कदम उठाया है।

खबरें और भी हैं...