पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आजम खान लखनऊ कोर्ट में पेश हुए:CBI ने भर्ती घोटाले में चार्जशीट लगाकर आजम को कॉपी रिसीव कराई

लखनऊ/सीतापुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सीतापुर जिला कारागार में बंद आजम खान की सोमवार को CBI स्पेशल कोर्ट लखनऊ में पेशी हुई। CBI ने कोर्ट में आजम के खिलाफ भर्ती घोटाले में जालसाजी और आपराधिक साजिश की धाराओं में चार्जशीट दाखिल की। चार्जशीट की कॉपी आजम को रिसीव कराई गई। मामले की अगली सुनवाई 29 नवंबर को होगी। पुलिस की कड़ी सुरक्षा के बीच आजम खान को वापस सीतापुर जेल ले जाया गया।

कोर्ट के आदेश के मुताबिक, आजम खान की अगली सुनवाई में वीडियो कॉल के जरिए पेशी होगी। उसे व्यक्तिगत रूप से कोर्ट में पेश नहीं होना होगा। आजम का बेटा अब्दुल्ला आजम सीतापुर जिला कारागार में ही बंद है।

कड़ी सुरक्षा के बीच आजम खान को वापस सीतापुर जेल ले जाया गया।
कड़ी सुरक्षा के बीच आजम खान को वापस सीतापुर जेल ले जाया गया।

सपा सरकार में हुआ था घोटालाद्दय
दरअसल, सपा सरकार में जल निगम में करीब 1300 पदों पर भर्ती में घोटाला हुआ था। सपा शासन काल में भर्ती घोटाले के दौरान आजम खान जल निगम के अध्यक्ष थे। 10 सितंबर 2021 को इस मामले में आजम खान की जमानत अर्जी खारिज हो गई थी। सीबीआई की विशेष अदालत ने आजम खान को 15 नवंबर को पेश करने का आदेश दिया। इससे पहले दो सुनवाइयों पर उन्हें कोर्ट ने तलब किया था, लेकिन बीमारी की वजह से वह हाजिर नहीं हुए थे।

कड़ी सुरक्षा के बीच आजम खान को सीतापुर जेल वापस ले जाया गया।
कड़ी सुरक्षा के बीच आजम खान को सीतापुर जेल वापस ले जाया गया।

27 फरवरी 2020 से बंद है आजम खान
समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता और सांसद आजम खां अपने बेटे और पत्नी के साथ 27 फरवरी 2020 से सीतापुर जेल में बंद है। इस दौरान जमानत मिलने पर पत्नी तंजीम फातिमा को कुछ माह पहले रिहा कर दिया गया था। जबकि आजम और उनका बेटा अब्दुल्ला आजम अभी जेल में बंद है।

चोरी, धोखाधड़ी समेत 80 मुकदमे थे दर्ज
आजम खान पर चोरी, धोखाधड़ी समेत करीब 80 मुकदमे दर्ज थे। आधे से ज्यादा मामलों में आजम को जमानत मिल चुकी है। जिला कारागार सीतापुर में बंद होने के बाद कोविड काल के दौरान वह कोरोना संक्रमित भी हुए, लेकिन कुछ दिनों में वह ठीक हो गए। इसके बाद वापस जेल में शिफ्ट कर दिया गया था।

सीबीआई कोर्ट में आजम खान की पेशी के दौरान पुलिस मुस्तैद दिखी।
सीबीआई कोर्ट में आजम खान की पेशी के दौरान पुलिस मुस्तैद दिखी।

शाह के बयान पर आजम की पत्नी ने किया था पलटवार
उधर, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के JAM वाले बयान पर सांसद आजम खान की पत्नी शहर विधायक डॉ. तजीन फातिमा ने पलटवार किया। उन्होंने कहा कि आजम खां का नाम जिन्ना के साथ जोड़ना सरासर अन्याय है। जबकि, आजम खान ने तो हमेशा जिन्ना की विचारधारा का विरोध किया है। वहीं, भाजपा के लालकृष्ण आडवाणी ने पाकिस्तान जाकर जिन्ना की मजार पर माथा टेका था। ऐसे में आजम खान किस तरह से जिन्ना की विचारधारा के समर्थक हो सकते हैं।

पुलिस की कड़ी सुरक्षा के बीच आजम खान को वापस सीतापुर जेल लाया गया।
पुलिस की कड़ी सुरक्षा के बीच आजम खान को वापस सीतापुर जेल लाया गया।

बता दें कि दो दिन पहले आजमगढ़ में रैली के दौरान शाह ने कहा था कि मोदी JAM लेकर आए हैं। इसका अर्थ है। J- जन धन बैंक खाते, A- आधार कार्ड, M- हर आदमी को मोबाइल। वहीं, सपा के लिए JAM का अर्थ है, J से जिन्ना, A से आजम खान और M से मुख्तार।