पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सीतापुर में 8 महीने बाद हारी प्रत्याशी को मिली प्रधानी:हाईकोर्ट में धांधली का प्रत्याशी ने लगाया था आरोप,दोबारा हुई काउंटिंग में जीती

सीतापुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
8 महीने पहले विजयी घोषित प्रत्याशी पहले 11 मतों से राधारानी को हराकर कुर्सी पर काबिज हो गया था। - Money Bhaskar
8 महीने पहले विजयी घोषित प्रत्याशी पहले 11 मतों से राधारानी को हराकर कुर्सी पर काबिज हो गया था।

सीतापुर में पंचायत चुनाव में मिली हार से नाखुश एक महिला प्रत्याशी को अपनी जीत का इस कदर भरोसा था कि वह अपनी जीत का दावा ठोंकने और रिकॉउंटिंग के लिए उच्च न्यायालय (हाईकोर्ट) की शरण ली। न्यायालय में चली तकरीबन 8 माह की सुनवाई के बाद जब कल रिकाउंटिंग हुई तो महिला प्रत्याशी की खुशी का ठिकाना नही रहा। वह दो मत से अपने निकटम प्रतिद्वंदी से विजयी घोषित हुई।

8 महीने पहले विजयी घोषित प्रत्याशी पहले 11 मतों से राधारानी को हराकर कुर्सी पर काबिज हो गया था लेकिन राधारानी के जीत के हौसले इस कदर बुलंद थे कि वह कोर्ट की शरण मे जाकर जिला प्रशासन को आईना दिखा दिया और आज वह प्रधानी की सीट पर काबिज हो गयी।

हारने के 8 महीने बाद मिली प्रधानी

लहरपुर तहसील के ग्राम पंचायत नकुरी कला में हुए पंचायत चुनाव के प्रधान पद के हारे प्रत्याशी को रिकाउंटिंग में 2 वोटों से जीत मिली है। गौरतलब है कि लहरपुर तहसील क्षेत्र के अंतर्गत विकासखंड हरगांव के ग्राम पंचायत नकुरी कला में पंचायत चुनाव में कुसुम कुमारी 220 वोट मिले थे। वहीं राधारानी को 207 वोट मिले थे। पंचायत चुनाव में कुसुम कुमारी को 13 वोटों से विजयी घोषित किया गया था। जिसके चलते राधारानी ने तत्कालीन जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी रामशंकर पांडेय पर मतगणना पर धांधली का आरोप लगाते हुए उच्च न्यायालय में रिट दाखिल की और रिकाउंटिंग करवाने की अपील की थी।

धांधली का भी लगा था आरोप

इस रिकाउंटिंग में राधा रानी को 201 मत प्राप्त हुए। वही कुसुम कुमारी को 199 मत मिले। वही 94 मत खराब भी निकले। जिसमे 2 मतों से राधारानी को विजयी घोषित किया गया। राधारानी की जीत के बाद समर्थकों के द्वारा मिठाई बांटकर रंग गुलाल उड़ाया गया। वही सुरक्षा की दृष्टि से कोतवाली प्रभारी मनीष तालगांव पुलिस हरगांव पुलिस व तंबौर पुलिस सहित भारी संख्या में पुलिस बल मौजूद रहा। पुलिस का कहना है कि प्रधानी सीट का मामला होने के चलते गांव में फोर्स तैनात कर दिया गया है। फिलहाल किसी प्रकार की तनाव की स्थिति नही है लेकिन एहतियात के तौर पर फोर्स को तैनात किया गया है।