पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57491.51-2.62 %
  • NIFTY17149.1-2.66 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486500.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)64467-0.29 %

सिद्धार्थनगर...किसानों को नहीं मिल रहे फसल के सही दाम:खाद के लिए दर पड़ रहा है भटकना, कम दामों में बेच रहे फसल

सिद्धार्थनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
साधन सहकारी समितियों के सील होने से किसान परेशान। - Money Bhaskar
साधन सहकारी समितियों के सील होने से किसान परेशान।

सिद्धार्थनगर में भनवापुर ब्लाक क्षेत्र में साधन सहकारी समितियों के सील होने से किसान मुश्किल में हैं। किसानों को गेहूं की उपज को बेचने के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है। अब धान की उपज को बेचने के लिए किसान परेशान हैं। रबी बोआई के लिए किसान खाद के लिए मारे-मारे फिर रहे हैं।

70 लाख रुपए का हुआ था धान खरीद घोटाला

खरीफ खरीद सत्र 2020-21 में डुमरियागंज तहसील और भनवापुर ब्लाक क्षेत्र की चार साधन सहकारी समितियों को सील कर दिया गया था। धनोहरी, हटवा, चिताही तथा भरवठिया को 70 लाख रुपए के धान खरीद घोटाले में तत्कालीन एसडीएम त्रिभुवन की मौजूदगी में सील कर दिया गया था।

किसान प्राइवेट दुकानों से खरीद रहे खाद

12 से अधिक संलिप्त केन्द्र प्रभारी और फर्जी किसानों पर कार्रवाई हुई थी। तब से आज तक समितियां सील ही हैं। समितियों के सील होने से किसानों को अपने उपज को औने-पौने दामों पर बेचना पड़ रहा है। उन्हें खाद के लिए दर दर भटकना पड़ रहा है। क्षेत्र के दशरथ चौधरी, नंदकिशोर, प्रमोद, सत्येंद्र आदि बताते हैं कि समितियों के सील होने से उपज बेमोल बिक रही है। खाद प्राइवेट दुकानों से खरीदना पड़ता है।

एआर वकील वर्मा ने कहा कि चार समितियों को पिछले खरीद सत्र में सील कर दिया गया था। जिसके संबंध में मामला न्यायालय में लंबित हैं। बाकी केंद्रों पर धान की खरीद हो रही है। अगल -बगल की समितियों पर खाद भेजी गई है।

खबरें और भी हैं...