पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऊन की झिंझाना सीएचसी बीमापर:एक्सरे मशीन के लिए नहीं है ऑपरेटर, संसाधनों का है अभाव

ऊनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शामली की ऊन तहसील के झिंझाना सीएचसी में कभी एक्सरे ऑपरेटर की तो कभी दूसरे मेडिकल इंस्ट्रूमेंट की आवश्यकता बनी ही रहती है। झिंझाना की इस बीमार सीएचसी में कुछ न कुछ समस्याएं आने की वजह से मरीजों को भी परेशान होना पड़ता है।

15 साल पुरानी है सीएचसी
झिंझाना सीएचसी करीब 15 वर्ष पुरानी सीएचसी हो गई है। मगर आज तक भी यहां काफी संसाधनों का टोटा है। बताते हैं की सीएससी में करीब डेढ़ वर्ष पहले एक्स रे मशीन आई हुई है, जिसकी आज तक पैकिंग भी नहीं खुल पाई। न हीं किसी मरीज का एक्सरा उसमें हुआ है। इसका मुख्य कारण ऑपरेटर ना होना है, जो उस एक्सरे मशीन को चला सके। चिकित्सा अधीक्षक डॉ. प्रिंस मिश्रा का कहना है कि एक्सरे मशीन तो मौजूद है, लेकिन उसका ऑपरेटर नहीं है। इस संबंध में कई बार उच्च अधिकारियों को कहा जा चुका है।

सीएचसी में डेंटल चेयर नहीं है मौजूद
दूसरी ओर सीएचसी में डेंटल डॉक्टर मौजूद है। मगर दांत के मरीज को देखने के लिए डेंटल चेयर मौजूद नहीं है, जिसके बारे में पिछले करीब डेढ़ वर्ष से कहा जा रहा है। कुछ जानकारों का कहना है कि दंत चिकित्सक चाहे तो फर्स्ट एड के रूप में दवाई देकर शामली रेफर कर सकते हैं, मगर ऐसा हो नहीं रहा है। मेहरबान सानू धर्मपाल योगेश आदि मरीजों ने दांत के लिए डेंटल चेयर तथा एक्स रे मशीन को सुचारू किए जाने की जनपद के सीएमओ से मांग की है।​​​​​​​

एक्स रे मशीन का नहीं है ऑपरेटर
​​​​​​​
झिंझाना सीएचसी के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. प्रिंस मिश्रा का कहना है कि हमने ऑपरेटर और डेंटल चेयर के लिए उच्चाधिकारियों को लिखा हुआ है। एक्सरे मशीन कोरोना काल से आई रखी है। दूसरी ओर जनपद के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर संजय अग्रवाल ने बताया कि डेंटल चेयर सीधे शासन से ही नामित होकर आती है। और हमने एक्स रे मशीन के ऑपरेटर की भी मांग उत्तर प्रदेश शासन से की हुई है। ‌

खबरें और भी हैं...