पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऊन में अवैध कब्जे पर चला बुलडोजर:टपराना और बिडौली में गिराए अवैध कब्जे, मेरठ करनाल हाईवे की चौड़ीकरण की जद में आए

ऊनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

करनाल मेरठ हाईवे के चौड़ीकरण की जद में आए अवैध निर्माणों को आज दोपहर हाईवे की टीम ने राजस्व और पुलिस पुलिस के माध्यम से गिरा कर अपने कब्ज़े में ले लिया। जबकि कुछ धार्मिक स्थलों और कुछ कारणों की वजह से कहीं-कहीं कुछ अवैध कब्जे रह गए हैं, जिन्हें 1 या 2 दिन में हटाने को कहा गया है।

एसडीएम विशु राजा के नेतृत्व में हुई कार्रवाई
पिछले कई माह से मेरठ -करनाल हाईवे 709 ए (108 किलोमीटर) का चौड़ीकरण चल रहा है। हालांकि काफी समय पहले चौड़ीकरण को लेकर चिन्हित करण कर दिया गया था। हाईवे के दोनों और चौड़ीकरण के अंतर्गत ही नालों का भी निर्माण कराया जा रहा है। हाईवे द्वारा राजस्व और पुलिस विभाग के एक संयुक्त टीम गठित की गई। टीम का नेतृत्व स्वयं ऊन एसडीएम विशु राजा ने किया।

टीम में ऊन तहसीलदार अजय कुमार शर्मा, कानूनगों विनोद कुमार और सुनील कुमार तथा लेखपाल धर्मवीर सिंह, राजू गोयल, अमरपाल सिंह, अजीत सिंह सूरज कुमार लोकेश सैनी तथा पुलिस मौजूद रही।

मंदिर की दीवार गई गिराई
म्यान कस्बा के ग्राम प्रधान आजाद ने बताया कि करनाल हाईवे पर म्यान कस्बा के एक मंदिर की दीवार तथा एक मकान की दीवार करनाल हाईवे के चौड़ीकरण की जद में आ रही थी, जिसे प्रशासनिक टीम ने बुलडोजर से गिरवा कर कब्जा ले लिया है। तहसीलदार अजय कुमार शर्मा ने बताया कि टपराना गांव में करनाल हाईवे के चौड़ीकरण की जद में आ रहा शौचालय जो करीब 100 मीटर में था, उसको हटाकर कब्जा ले लिया गया है।

अवैध कब्जे पर चला बुलडोजर
अवैध कब्जे पर चला बुलडोजर

मदरसे का कुछ हिस्सा आ रहा जद में
उन्होंने बताया कि चौड़ीकरण की जद में टपराना गांव का मुख्य गेट और बगल वाले मदरसे का कुछ हिस्सा आ रहा है। जिसमें कुछ तकनीकी समस्या आई है। उसे कल सोमवार में हटवा कर कब्जा ले लिया जाएगा। अब से पहले इस हाईवे से गांव अहमदगढ, केरटू बिडौली, गाडीवाला चौक झिंझाना से भी अवैध कब्जे हटवाए गए हैं। मगर पिछले कई माह से हाईवे की ओर से ऐसी कोई गति विधी नहीं थी ।

खबरें और भी हैं...