पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बारिश से फसलों को मिली संजीवनी, किसान खुश:अगले 3 दिनों तक रुक-रुककर होती रहेगी बारिश, 22 जून से मौसम साफ रहने के आसार

शामली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शामली में पिछले 2 दिनों से रुक-रुककर हो रही बारिश से फसलों के साथ किसानों के चेहरे भी खिलखिला उठे हैं। बारिश फसलों के लिए संजीवनी साबित होगी। वहीं मौसम विभाग के अनुसार 19 से 21 जून तक रुक-रुककर बारिश होती रहेगी। 22 जून से मौसम साफ रहने के आसार हैं।

बारिश से किसानों का फसलों की सिंचाई का खर्च बचेगा। वहीं दूसरी ओर व्यापारी वर्ग को बारिश से नुकसान हुआ है। मौसम खराब होने से दुकानों पर ग्राहक कम पहुंच रहे हैं। पिछले कई दिनों से जिले में ज्यादा गर्मी पड़ रही थी। इससे आम जनमानस परेशान हो उठा था। गुरुवार से हो रही बारिश ने लोगों को गर्मी से राहत दिला दी। बारिश से फसलें भी लहलहा उठी हैं। किसानों का कहना है कि अगर ऐसे ही बरसात होती रहेगी तो उपज अच्छी होगी।

मौसम खराब रहने से दुकानों पर नहीं पहुंच रहे ग्राहक

बारिश से व्यापारी वर्ग नाखुश नजर आ रहा है। बरसात से देहात का ग्राहक शहर तक नहीं पहुंच रहा है तो वही व्यापारियों का व्यापार भी नाम मात्र का रह गया। इससे कारोबार प्रभावित हो रहा है। मौसम खराब रहने से गांव के लोग शहर जाने से परहेज करते हैं।

शामली में आसमान काली घटाओं से घिरी नजर आया, बारिश से लोग घरों में कैद होकर रह गए हैं।
शामली में आसमान काली घटाओं से घिरी नजर आया, बारिश से लोग घरों में कैद होकर रह गए हैं।

अगले 3 दिनों के तापमान पर एक नजर

तारीख, न्यूनतम तापमान, अधिकतम तापमान

19 जून 24.8-32.1

20 जून 24.5-35.4

21 जून 28.3-40.8

शामली के किसानों के अनुसार रुक-रुककर अगर ऐसी ही बारिश होती रहेगी तो फसलों की सिंचाई का काफी खर्च बच जाएगा।
शामली के किसानों के अनुसार रुक-रुककर अगर ऐसी ही बारिश होती रहेगी तो फसलों की सिंचाई का काफी खर्च बच जाएगा।

किसान बोले-धान की रोपाई का समय, बारिश से मिली राहत

किसान राजबहादुर का कहना है कि इस समय धान की रोपाई का समय चल रहा है। रोपाई से पहले खेतों में पानी भरना पड़ता है। बारिश से जो किसान रोपाई की तैयारी में थे उन्हें अब कम सिंचाई करनी पड़ेगी। इसके अलावा धान की नर्सरी भी सूख रही थी। बारिश नर्सरी के लिए भी संजीवनी साबित हुई। किसान रणवीर सिंह का कहना है कि धान, गन्ना आदि की फसलों को बारिश से फायदा पहुंचा है।