पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

संतकबीर नगर में महिला आयोग की सदस्य ने सुनी समस्याएं:महिला बोली, दबंगों ने जमीन पर कर लिया कब्जा, दे रहे धमकी, एक हफ्ते से नहीं जला घर का चूल्हा

संतकबीर नगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

यूपी के संतकबीरनगर में राज्य महिला आयोग की सदस्य मनोरमा शुक्ला ने खलीलाबाद डाक बंगले में महिलाओं की फरियाद सुनने के लिए पहुंची थी। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया कि अगर शिकायत लेकर थाने में जाती है, तो पूरी गंभीरता के साथ महिलाओं की शिकायतों को सुनते त्वरित निस्तारण किया जाए। किसी भी तरह की लापरवाही न बरतें। इस मौके पर जिला प्रोबेशन अधिकारी, महिला थानाध्यक्ष सरोज यादव, पुलिस क्षेत्राधिकारी अंशुमान मिश्रा, अपर सीएमओ डॉ. मोहन झा, भाजपा महिला मोर्चा की क्षेत्रीय उपाध्यक्ष सुनीता अग्रहरि, मगहर चेयरमैन संगीता वर्मा समेत अनेक लोग मौजूद रहे।

केस -1… 35 किमी साइकिल चलाकर पहुंचे दंपती

अधिकारियों के कार्यालयों के चक्कर लगाकर थक चुकी महिला को थाने और तहसील स्तर से न्याय नहीं मिल पाया। पीड़ित महिला को जब पता चला कि राज्य महिला आयोग सदस्य यहां आई हैं तो कुसुम पत्नी वीरेंद्र ने घर से 35 किलोमीटर दूर हैसर से चिलचिलाती धूप में अपने छोटे से बच्चे के साथ भूखे-प्यासे पति के साइकिल पर बैठकर न्याय के लिए पहुंची। महिला आयोग की सदस्य के पास, अपनी पीड़ा बताते हुए बताया कि उसकी थोड़ी सी जमीन है, जिसको गांव के ही एक व्यक्ति ने जबरन कब्जा कर लिया है, इसका विरोध करने पर गरीब और असहाय समझकर मारते-पीटते हैं, जब न्याय के लिए थाने पर और एसडीएम के पास जाती है तो वहां से कहा जाता है कि जाओ इस्टे लाओ और मुकदमा लड़ो कोर्ट-कचहरी से। पीड़ित ने अपनी पीड़ा सुनाते हुए बताया कि डर के मारे मेरे घर में एक सप्ताह से चूल्हा नही जला है, लेकिन मेरी कहीं सुनवाई नही रही है, मेरे पास इतना पैसा नही है कि मैं मुकदमा लड़ सकूं, अगर मुझे न्याय नही मिला तो पूरे परिवार के साथ आत्महत्या करने के लिए मजबूर हो जाएंगे।

मौके पर मौजूद लोग।
मौके पर मौजूद लोग।

केस-2…एफआईआर के बाद भी नहीं हो रही कार्रवाई

खलीलाबाद कोतवाली थाना क्षेत्र खलीलाबाद निवासी 15 वर्षीय छात्रा अनामिका पुत्री इंदु प्रकाश जो बीते 30 अप्रैल को कोचिंग से घर जा रहे थे कि रास्ते में एक युवक ने अपने बातों में बहला फुसलाकर नाबालिक को नशीला पदार्थ पिलाकर बेसुध हालत में उसे बस्ती ले गया, जिसके बाद आरोपी द्वारा उसे बेंगलुरु ले जाकर बेचने के फिराक में थे, इस मामले में परिजनों ने कोतवाली थाने में आरोपियों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कराया, लेकिन अभी तक इस मामले में कार्रवाई ना होने से आरोपी लगातार पीड़ित परिजनों को धमकी दे रहे हैं जैसे छात्रा घर से निकल नहीं पा रही है और ना ही स्कूल जा पा रही है। गिरफ्तारी न होने से आरोपी लगातार पीड़ित परिजनों पर सुलह समझौता करने का दबाव बना रहे हैं।

समस्याएं सुनती महिला आयोग की सदस्य।
समस्याएं सुनती महिला आयोग की सदस्य।

केस- 3…दबंगों पर पुलिस के कार्रवाई न करने का आरोप

खलीलाबाद कोतवाली थाना क्षेत्र के मगहर निवासी नसीमा खातून पत्नी गुलाम सबीर ने सैकड़ों बार मगर चौकी कोतवाली थाना और डीएम कार्यालय का चक्कर लगाने के बाद जब न्याय नहीं मिला तो, महिला आयोग की सदस्य मनोरमा शुक्ला से न्याय की गुहार लगाते हुए बताया कि 3 महीने से न्याय और आरोपियों पर कार्रवाई के लिए थानों का चक्कर लगाने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो रही है, जिससे लगातार धमकी मिल रही है। पीड़िता ने बताया कि जब मेरे घर पर कोई पुरुष नहीं रहता है तो मेरे बगल में दबंग किस्म के लोग हैं, जो गलत नियत से मेरा इज्जत लूटने का प्रयास किया गया और जब विरोध किया तो मारा पीटा गया, कि शिकायत लेकर के पुलिस के पास गई लेकिन फिर भी कोई कार्यवाही नहीं हुई और उन लोगों द्वारा लगातार धमकी दी जा रही है कि जहां तुम्हें जाना है जाओ पुलिस मेरे इशारे पर काम करती है मेरा कोई कुछ नहीं कर सकता है।

खबरें और भी हैं...