पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

संतकबीरनगर में बांध ने बढ़ाई ग्रामीणों की चिंता:डीएम ने लिया जायजा, कहा- किसी भी हाल में बंधे को बचाना है

संतकबीरनगरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कटान को रोकने के लिए किया जा रहा है निर्माण। - Money Bhaskar
कटान को रोकने के लिए किया जा रहा है निर्माण।

संतकबीरनगर में घाघरा नदी की कटान तटबन्ध से टकरा गई है। नदी की मुख्य धारा तटबन्ध की तरफ मुड़ने से समस्या काफी बढ़ गई है। लोगों को डर सताने लगा है कि कहीं 2013 वाली हालत फिर से न हो जाए। धनघटा के तुर्कवाकिया के पास हालात नियंत्रण के बाहर हो चुके हैं। बांध को बचाने का हर प्रयास असफल साबित होता नजर आ रहा है।

तेजी से हो रहा है कटान

कटान से पास के गांवों में चिंता बनी हुई है। आसपास के गांवों के लोग तटबन्ध पर जमा हो गए हैं। प्रशासन के बचाव अभियान का हिस्सा बने ग्रामीणों ने बताया कि कटान से तटबन्ध को बचाना नामुमकिन लग रहा है। कटान के आगे कोई अवरोध कारगर साबित नहीं हो रहा है।

बांध कटना हो गया है शुरू

जिलाधिकारी दिव्या मित्तल और एसपी डा. कौस्तुभ ने मौके पर पहुंचकर एमबीडी बांध का जायजा लिया। उन्होंने सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को निर्देशित किया कि किसी भी हाल में बंधे को बचाना है। उन्होंने कहा कि बांध अभी सुरक्षित है, किसी प्रकार का कोई खतरा नहीं है। वहीं ग्रामीणों का कहना है कि बांध कटना शुरू हो गया है।

आप के कार्यकर्ता ने दिया धरना

आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता तुर्कवालिया नायक बांध में हो रही कटान के स्थाई समाधान और इसके निर्माण की मांग को लेकर एक दिवसीय अनशन पर बैठ गए हैं। आप के प्रदेश सचिव सूर्या त्रिपाठी ने कहा कि तत्काल स्थाई समाधान नहीं किया गया तो बांध बह जाने की संभावना हैं। बांध बह से कई ग्रामीण बेघर हो जाएंगे।

खबरें और भी हैं...