पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

संतकबीर नगर में दुष्कर्मी को 10 साल की सजा:54 हजार रुपये का जुर्माना, युवती को नशीला पदार्थ सुंघाकर बेहोशी हालत में की थी दरिंदगी

संतकबीर नगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

संतकबीरनगर जिले के अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश विशेष न्यायाधीश (एससी-एसटी एक्ट) की कोर्ट ने मंगलवार को दुष्कर्म के मामले में एक आरोपी को 10 वर्ष की कारावास की सजा सुनाई है। इसके अलावा आरोपी पर 54 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है।

आरोपी को 10 साल की सजा, 54 हजार का जुर्माना
बता दें कि संत कबीर नगर जिले की खलीलाबाद कोतवाली थाना क्षेत्र के एक गांव में 4 साल पहले एक युवती को इब्राहिम उस कृष्णा सिंह ने नशीला पदार्थ सुंघाकर युवती से बेहोशी की हालत में दुष्कर्म किया था, फिर परिजनों ने इस मामले में कोतवाली थाने में आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था, जिसमें कोतवाली पुलिस ने युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया था। इस मामले में पुलिस की लगातार पैरवी से आरोपी इब्राहिम को अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश विशेष न्यायधीश एससी एसटी एक्ट डीपी सिंह ने अपराध में दोष सिद्ध पाते हुए दुष्कर्म के आरोपी को 10 वर्ष की कारावास की सजा सुनाते हुए ₹54000 का अर्थदंड से दंडित किया है। अर्थदंड न अदा करने पर अभियुक्त को छह माह की अतिरिक्त कारावास की सजा सुनाई है।

नशीला पदार्थ सुंघाकर बेहोशी हालत की थी दरिंदगी
इस मामले में पुलिस अधीक्षक सोनम कुमार ने बताया कि 25 सितंबर 2017 को युवती को कुछ सुंघाकर युवती के साथ दुष्कर्म किया गया था, जिसमें पीड़िता की तहरीर पर आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की गई थी, जिस मामले में मिशन शक्ति अभियान के तहत मॉनिटरिंग सेल की प्रभावी कार्रवाई एवं सम्यक पैरवी से दुष्कर्म के अभियुक्त को कठोर सजा मिली है। उन्होंने बताया कि महिलाओं और बालिकाओं संबंधी अपराधों पर कठोरता से नियंत्रण लगाने एवं अभियुक्तों को अधिकाधिक दंडित कराने हेतु चलाए जा रहे के तहत सर्वोच्च प्राथमिकता के आधार पर अभियोगों को चिन्हित कराते हुए निरन्तर सजा दिलाई जा रही है।

खबरें और भी हैं...