पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मेहदावल में कार्यालय पर नदारद मिले अधिकारी:कार्यालय के निर्धारित समय से एक घंटा 30 मिनट लेट पहुंचे बीडीओ और एडीओ पंचायत

मेहदावलएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

खण्ड विकास अधिकारी के कार्यालय न आने से ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। ग्रामीणों की शिकायत है कि बीडीओ आये दिन अपने कार्यालय में नहीं मिलते हैं। जब पड़ताल की तो 11 बजकर 25 मिनट पर बीडीओ व 10 बजकर 55 मिनट पर एडीओ पंचायत पहुंचे। यहां सुबह से लोग अपनी फरियाद लेकर आते जाते रहे।

सरकारी आवास को छोड़कर बाहर मकान लेकर रहते हैं अधिकारी

हालांकि मंगलवार को फरियादियों की संख्या नही दिखी। यहां पिछले कई महीने से कार्यरत बीडीओ के इस रवैया से ग्रामीण ही नहीं ग्राम प्रधान भी परेशान हैं। परिसर में बीडीओ आवास भले ही बना है, लेकिन वे इसमें निवास नहीं करते हैं। दो चार ग्राम पंचायत अधिकारियों के अलावा सभी विकास कर्मी नदारद मिले। मुख्यालय पर मौजूद कर्मचारी के आने की कोई जानकारी नहीं दे सके।

मुख्यमंत्री के आदेशों की भी अवलेहना कर रहे है अधिकारी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए थे कि वह समय से दफ्तर पहुँचे । जनता की शिकायतें सुने और उसका समय बद्ध निस्तारण करे ,लेकिन इस निर्देश का विकास खंड कार्यालय के अधिकारियों - कर्मचारियों पर असर नही दिख रहा है। मंगलवार को खंड विकास कार्यालय का दैनिक भास्कर ने पड़ताल की । बीडीओ समेत कई कर्मचारी लगभग 11 बजे तक कार्यालय पर उपस्थित नही मिले। विकास खंड सांथा में सुबह 10 बजे से फरियादी अपनी फरियाद लेकर पहुचते है लेकिन यहाँ के साहब कभी भी समय से दफ्तर नही पहुँचते है।

बड़े साहब के कार्यालय पर लगा मिला ताला।
बड़े साहब के कार्यालय पर लगा मिला ताला।

पड़ताल में खुली साहब की पोल

पड़ताल की टीम जब मंगलवार को विकास खण्ड मुख्यालय पर 10 बजे पहुंची तो कोई भी साहब वहां नही मिले। चतुर्थ श्रेणी के कुछ कर्मचारी तो पहुंचे थे लेकिन बड़े साहब रास्ते में थे।

सीडीओ ने कहा लापरवाही पर की जाएगी कार्रवाई

जब बीडीओ से बात करने का प्रयास किया गया तो फोन ही नहीं मिल सका। सीडीओ सुरेंद्र नाथ श्रीवास्तव ने कहा कि सभी अधिकारियों को समय से कार्यालय आने का आदेश दिया गया है। अगर इसके बाद भी कोई लापरवाही कर रहा है तो उसके खिलाफ जांच करवाकर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...