पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57200.23-0.13 %
  • NIFTY17101.95-0.05 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47875-1.15 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61247-2.76 %

संभल में BJP नेता के बिगड़े बोल:रामलीला के मंच से कहा-तालिबानी भाषा बोलने वालों की जुबान काट देंगे, इनको न टिकने देंगे-न पनपने देंगे

संभल3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भाजपा के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष राजेश सिंघल।

संभल जिले में भाजपा नेता ने रामलीला के मंच से विवादित बयान दिया है। क्षेत्रीय उपाध्यक्ष ने कहा है कि तालिबान का समर्थन करने वाले ऐसे किसी भी व्यक्ति को न तो संभल, न उत्तर प्रदेश और न ही देश मे रहने दिया जाएगा। इनकी जुबान को काट लिया जायेगा।

जुबान काट लेंगे

भाजपा के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष राजेश सिंघल शुक्रवार को रामलीला में अतिथि के तौर पर आमंत्रित थे। जहां उन्होंने सपा सांसद शाफीकुर्रह्मन पर तंज कसते हुए बयानबाजी की। मंच से उन्होंने आतंकवाद पर बोलना शुरू किया। इसके बाद उन्होंने कहा कि संभल में तालिबान का समर्थन करने वालों की आवाज निकलती है। इसका मुकाबला करने के लिए हमें एकजुट होना पड़ेगा। तालिबानी भाषा बोलने वालों की जुबान काट देंगे। हम तालिबान का समर्थन करने वाले ऐसे किसी भी व्यक्ति को न तो संभल, न ही प्रदेश और न ही देश में पनपने देंगे।

गोल टोपी लगाने से हिन्दू-मुस्लिम एकता कायम नहीं होगी

यही नहीं उन्होंने देश के सांप्रदायिक सौहार्द पर भी कहा कि बहुत से लोग कहते हैं कि हिन्दू-मुस्लिम एकता कायम होनी चाहिए। हम भी यही चाहते हैं। लेकिन ये केवल गोल टोपी पहनने से नहीं होगी। तुम गोल टोपी पहनो और हमारे माथे पर तिलक लगाओ तभी हिन्दू-मुस्लिम एकता कायम होगी। सिंघल कहते हैं कि श्रीराम ने ऐसी सेना बनाई जिसमे सभी जातियों के लोग थे। उसमे वाल्मीकि, जातव, कश्यप, पाल और सैनी भी शामिल था। हमें एकजुट होकर रहना होगा।

शफीकुर्रहमान बर्क ने किया था तालिबान का समर्थन

तकरीबन दो महीने पहले संभल से सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने तालिबान का समर्थन किया था। उन्होंने कहा था कि अफगानिस्तान की आजादी अफगानिस्तान का निजी मामला है। अफगानिस्तान में अमेरिका की हुक्मरानी क्यों? तालिबान वहां की ताकत है। उसने अमेरिका और रूस के वहां पर पैर नहीं जमने दिए। अफगानिस्तान के लोग तालिबान की अगुवाई में आजादी चाहते हैं। भारत में भी अंग्रेजों से पूरे देश ने लड़ाई लड़ी थी। रहा सवाल हिंदुस्तान का तो यहां कोई कब्जा करने अगर आएगा उससे लड़ने को देश मजबूत है।