पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गुन्नौर में बैंक से धोखाधड़ी:किसानों ने केसीसी ऋण लेकर बेची जमीन, एसडीएम ने दिए जांच के निर्देश

गुन्नौर, संभल2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गुनौर के केनरा बैंक की शाखा से केसीसी ऋण लेकर जमीन बेचने का मामला प्रकाश में आया है। घटना की जानकारी तब हुई, जब किसानों को बैंक की तरफ से नोटिस भेजा गया। खरीदारों ने तहसील से दाखिल भी खारिज करा ली है। अब बैंक किसानों पर मुकदमा दर्ज कराने की तैयारी कर रह है। मामले में किसानों को नोटिस जारी किए गए हैं। एसडीएम ने बंधक भूमि पर दाखिल खारिज कर दिए जाने के मामले की जांच कर करने के निर्देश दिए हैं।

केनरा बैंक की गुन्नौर शाखा के मैनेजर अभिषेक कुमार ने बताया कि रसूलपुर गांव निवासी किशोरी लाल, जगत सिंह, कोमिल, अमर सिंह, पुनिया और इसमपुर डांडा निवासी गोपाल सिंह, बिचपुरी सैलाव निवासी लक्ष्मण सिंह, गंगावास निवासी रामपाल, बिजुआ नगला निवासी हरिओम सिंह, दौलतपुर निवासी विजयपाल सिंह, गुन्नौर के मोहल्ला सराय निवासी चंद्रकेश ने भूमि बंधक रखकर बैंक से केसीसी ऋण लिया था। ऋण लेने के बाद किसानों ने बंधक भूमि बेच दी। वहीं, खरीदारों ने बंधक भूमि बेचकर दाखिल खारिज करा ली।

रजिस्ट्रार से होगी पूछताछ

गुन्नौर उप जिलाधिकारी रामकेश सिंह धामा ने बताया कि जिन किसानों ने बैंक से लोन लिया है और उनकी जमीन को बैंक ने बंधक नहीं करवाया है तो वह बिक सकती है। इसमें बैंक की गलती है। अगर जमीन खतौनी पर बंधक होने के बाद बेची जा रही है और उसका बैनामा हो गया है तो सब रजिस्ट्रार से पूछताछ होगी और गलती पर कार्रवाई की जाएगी। अगर खतौनी बंधक है और उसका बैनामा दाखिल खारिज हो गई है तो संबंधित अधिकारियों से पूछताछ करने के बाद कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

बैंक से नोटिस जारी होने पर खुला मामला

किसानों को बैंक की तरफ से नोटिस भेजा गया था कि लोन का पैसा जमा कर दें। जब दो से तीन नोटिस के बाद कोई जवाब नहीं मिला तब बैंक मैनेजर अभिषेक कुमार किसानों के घर गए और बताया कि लोन नहीं चुकाया तो खेतों को नीलाम किया जाएगा। इस पर किसानों ने बताया कि खेत बेच दिए हैं। जब खेतों की डिटेल निकलवाई गई तो मामले का खुलासा हुआ।

खबरें और भी हैं...