पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टीचर-स्टूडेंट फांसी पर लटके मिले:सहारनपुर में 47 साल के टीचर का 11वीं की छात्रा से था अफेयर, एक के दोनों हाथ गायब

सहारनपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सहारनपुर के बिहारीगढ़ में मोहंड के जंगल में दो लाशें फंदे पर लटकी मिलीं। शव सड़ चुका था। कीड़े पड़ गए थे। दोनों टीचर और स्टूडेंट हैं। टीचर 2 बच्चों का बाप है। वह अपनी नाबालिग स्टूडेंट को लेकर 17 दिन पहले घर छोड़कर भाग गया था। दोनों नागल इलाके के रहने वाले थे।

टीचर के परिजनों ने लड़की के परिवार वालों पर हत्या का आरोप लगाया है। टीचर के शरीर से दोनों हाथ मौके पर नहीं मिले हैं। टीचर के परिजनों ने SSP ऑफिस पहुंचकर निष्पक्ष जांच करने की मांग की है।

47 साल का वीरेंद्र दो बच्चों का पिता है। 17 साल की छात्रा से उसका अफेयर था।(फाइल फोटो)
47 साल का वीरेंद्र दो बच्चों का पिता है। 17 साल की छात्रा से उसका अफेयर था।(फाइल फोटो)

SSP विपिन ताडा का कहना है कि यह आत्महत्या का ही मामला है। हालांकि शवों का पोस्टमॉर्टम कराया जा रहा है, इसकी रिपोर्ट के बाद ही पुष्टि हो पाएगी। मामले की जांच निष्पक्ष कराई जाएगी।

  • खबर में आगे बढ़ने से पहले पोल में हिस्सा ले सकते हैं...

45 साल का टीचर और 17 साल की स्टूडेंट
रसूलपुर खेड़ी में 45 साल का वीरेंद्र सिडकी के एक इंटर कॉलेज में टीचर था। उसी स्कूल में 11वीं क्लास में 17 साल की स्टूडेंट से उसका अफेयर हो गया। 3 सितंबर की रात को अचानक दोनों एक साथ लापता हो गए। स्टूडेंट के पिता ने टीचर के खिलाफ थाना नागल में अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस दोनों की तलाश कर रही थी। SOG को भी लगाया गया। मगर, वो नहीं मिले।

रात में जंगल के इसी पेड़ से दोनों की लाश लटकी हुई थी। पुलिस ने फॉरेंसिक की मदद भी ली है।
रात में जंगल के इसी पेड़ से दोनों की लाश लटकी हुई थी। पुलिस ने फॉरेंसिक की मदद भी ली है।

नहीं मिला सुसाइड नोट
मंगलवार की देर रात 9 बजे पुलिस को मोहंड के जंगल में दो शव पेड़ से लटके होने की सूचना मिली। SSP पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस को कुछ दूरी पर एक बाइक भी मिली। जो मृतक की बताई जा रही है। पुलिस ने इसी से दोनों की पहचान की। दोनों के परिजनों को भी मौके पर बुला लिया गया। दोनों शव के पास से कोई भी सुसाइड नोट नहीं मिला है और न ही अन्य सामान।

अध्यापक और छात्रा की मौत के मामले में जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड पर लगी ग्रामीणों और परिजनों की भीड़।
अध्यापक और छात्रा की मौत के मामले में जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड पर लगी ग्रामीणों और परिजनों की भीड़।

4 महीने पहले भी छात्रा हुई थी गायब
पुलिस की जांच में सामने आया कि 4 महीने पहले भी दोनों गायब हो गए थे। पुलिस ने दोनों को 24 घंटे में भीतर तलाश लिया था। छात्रा के बयान भी दर्ज कराए गए थे। इसमें छात्रा ने अपनी मर्जी से जाना बताया था। अपने अपहरण से इनकार किया था।

देर रात तक जंगल में सर्च ऑपरेशन भी चलाया गया। एक बाइक भी घटनास्थल से थोड़ी दूर खड़ी मिली।
देर रात तक जंगल में सर्च ऑपरेशन भी चलाया गया। एक बाइक भी घटनास्थल से थोड़ी दूर खड़ी मिली।

दोनों के अफेयर से परिवार परेशान थे
मृतक वीरेंद्र दो बच्चों का पिता है। दोनों के प्रेम प्रसंग को लेकर दोनों के परिजन काफी परेशान थे। कई बार टीचर के घर जाकर छात्रा के परिजनों ने हंगामा भी किया। लेकिन, इसका कोई भी असर टीचर पर नहीं पड़ा। SSP विपिन ताडा का कहना है, "नाबालिग और टीचर, दोनों 3 सितंबर से गायब हो गए थे।"

छात्रा के परिजनों ने युवक के खिलाफ अपहरण का मुकदमा भी दर्ज कराया था। जिसकी पुलिस तलाश कर रही थी। शुरुआती जांच में हत्या का मामला लग रहा है। लेकिन, शवों के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। ऐसे में ऑनर किलिंग के एंगल से भी जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...