पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पटाखा फैक्ट्री के गोदाम में धमाका, दो घायल:फैक्ट्री में दो साल में हुआ तीसरा धमाका, धमाके से छत हुई चकनाचूर

सहारनपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
धमाके के बाद फैक्ट्री में पड़ा मलबा। - Money Bhaskar
धमाके के बाद फैक्ट्री में पड़ा मलबा।

सहारनपुर के थाना बिहारीगढ़ के गांव सतपुरा की जय बालाजी पटाखा फैक्ट्री में मंगलवार सुबह करीब सात बजे धमाका हो गया। धमाका इतना भयंकर हुआ कि फैक्ट्री के गोदाम की पत्थर से बनी छत चकनाचूर हो गई। धमाका होते ही सुबह की शिफ्ट में काम कर रहे करीब आठ लोगों में भगदड़ मच गई। घटना में दो मजदूरी सोनू और नितिन घायल हो गए। सूचना पर पुलिस और दमकल विभाग की टीम पहुंच गई। घायल को सीएचसी फतेहपुर में भर्ती कराया।

सुबह के समय हुआ हादसा
हरियाणा के पानीपत जिले के सेक्टर 29 विकास नगर निवासी अमित काफी समय से बिहारीगढ़ थाना क्षेत्र के गांव सतपुरा में पटाखा फैक्ट्री चलाते हैं। जिसमें करीब 150 से ज्यादा मजदूर काम करते हैं। लेकिन मंगलवार सुबह की शिफ्ट में करीब 8 मजदूर ही फैक्ट्री पहुंचे थे। तभी अचानक फैक्ट्री के गोदाम में धमाका हो गया। धमाका इतना भयंकर हुआ कि गोदाम की छत के परखचे उड़ गए। धमाके की आवाज सुनकर मजदूरों में भगदड़ मच गई। हालांकि पटाखे की धमाके से कोई भी नहीं झुलसा, लेकिन धमाके में जो मलबा गुबार बनकर उड़ा उससे दो मजदूर गंभीर रूप से घायल हो गए।

CFO और फोरेंसिक टीम पहुंची
धमाके की आवाज सुनकर आसपास के गांव के लोग भी इकट्‌ठा हो गए। जो बाल्टियों से आग को बुझाने का प्रयास कर रहे थे। सूचना पर बिहारीगढ़ पुलिस भी पहुंच गई। पुलिस ने दमकल विभाग को सूचना दी। मौके पर पहुंची दमकल विभाग की टीम ने करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। हालांकि अभी फैक्ट्री की आग बुझाने का प्रयास किया जा रहा है। मौके पर चीफ फायर ऑफिसर तेजवीर सिंह और फोरेंसिक टीम भी पहुंच गई। अभी आग के लगने का कारण नहीं पता चल सका है। हालांकि माना जा रहा है कि फैक्ट्री में धमाका शॉर्ट सर्किट से हुआ है। हल्का लेखपाल सचिन कुमार ने बताया कि जहां विस्फोट हुआ है उस गोदाम की छत पत्थर की बनी हुई थी। जो चकनाचूर हो गई है। इस फैक्ट्री हैं विस्फोट की यह तीसरी घटना है।

दो साल में तीसरी घटना
जय बालाजी पटाखा फैक्ट्री में इससे पहले 30 अक्टूबर 2020 में धमाका हुआ था। पटाखों में जबरदस्त विस्फोट से फैक्ट्री की छत उड़ गई थी। वहां काम कर रहे करीब डेढ़ सौ लोगों में भगदड़ मच गई थी। आग की चपेट में आने से दस लोग झुलस गए। तीन की हालत गंभीर हो गए थे। फैक्ट्री मालिक भाग निकले थे। डीएम ने फैक्ट्री मालिक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच के आदेश दिए हैं।

जबकि 15 जनवरी 2022 को भी फैक्ट्री में धमाका हुआ था। हादसे के समय फैक्ट्री में करीब 100 मजदूर काम कर रहे थे। अधिकतर मजदूर फैक्ट्री से बाहर निकल गए थे। लेकिन आठ मजदूर झुलस गए हैं। आग लगने का कारण शार्ट सर्किट बताया गया है। विस्फोट से दीवार भी टूट गई।

इंस्पेक्टर मनोज चौधरी का कहना है कि पटाखा फैक्ट्री में धमाके में दो मजदूर घायल हुए है। वह आग में नहीं झुलसे हैं। बल्कि धमाके में फैक्ट्री का मलबा उड़ा उसे घायल हुए है। दोनों को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।

खबरें और भी हैं...