पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59037.18-0.72 %
  • NIFTY17617.15-0.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48458-0.16 %
  • SILVER(MCX 1 KG)646560.47 %

सहारनपुर...अस्पताल स्टाफ ने तीमारदारों को बंधक बनाकर पीटा:गर्भवती महिला को भर्ती करने को लेकर हुआ था विवाद

सहारनपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सहारनपुर के जिला महिला अस्पताल में भर्ती को लेकर एक गर्भवती महिला को स्टाफ ने कई ग्रामीणों के साथ मारपीट की। - Money Bhaskar
सहारनपुर के जिला महिला अस्पताल में भर्ती को लेकर एक गर्भवती महिला को स्टाफ ने कई ग्रामीणों के साथ मारपीट की।

सहारनपुर के जिला महिला अस्पताल में भर्ती को लेकर स्टाफ पर ग्रामीणों के साथ मारपीट का आरोप लगा है। उन्हें कमरे में बंधक बनाकर पीटा गया। तीमारदारों ने आरोप लगाया कि पुलिस भी ग्रामीणों को उठाकर थाने ले गई। पीड़ित परिवार ने बजरंग दल को सूचना दी। जिसके बाद वहां हंगामा बढ़ गया। बजरंग दल ने अस्पताल प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की और धरने पर बैठ गए। मौके पर सीएमओ डॉ. संजीव मांगलिक भी पहुंच गए। मामले की जांच का आश्वासन दिया गया।
गर्भवती को भर्ती करने के नाम पर मांगे 5 हजार
थाना सदर बाजार के गांव पिंजोरा निवासी सुधीर कुमार एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता है। सुधीर की पत्नी काजल उर्फ अर्चना गर्भवती है। गुरुवार शाम काजल को पेट में दर्द हुआ, तो वह उसे जिला अस्पताल लाया। पहले से भी वहां के महिला अस्पताल में उसका उपचार चल रहा था। आरोप है कि काजल को भर्ती करने के नाम पर उनसे 5,000 रुपए मांगे गए।
बंधक बनाकर पिटाई करने का आरोप
सुधीर ने बताया कि हमने पैसा देने से इनकार कर दिया। जिसके बाद अस्पताल के स्टाफ ने भर्ती करने से मना कर दिया। काजल के परिजन उसे भर्ती कराने की जिद पर अड़ गए। इसी बात को लेकर अस्पताल और काजल के परिजनों के बीच में मारपीट हो गई। ग्रामीणों का आरोप है कि महिला अस्पताल में मौजूद स्टाफ के कई युवकों ने उन्हें एक कमरे में बंधक बना लिया। जिसके बाद उनके साथ बुरी तरह से मारपीट की गई। अस्पताल के लोगों ने पुलिस को भी सूचना दी। पुलिस आई और पिंजोरा गांव के कई ग्रामीणों को उठाकर ले गई। जैसे ही यह जानकारी पिंजोरा गांव में पहुंची तो दर्जनों की संख्या में और ग्रामीण आ गए। उन्होंने रात में ही महिला अस्पताल के बाहर धरना देना शुरू कर दिया।
बजरंगी दल कार्यकर्ताओं ने हंगामा काटा
पीड़ित परिवार ने बजरंग दल को सूचना दी तो अस्पताल में बजरंग दल के सैकड़ों कार्यकर्ता पहुंच गए। जिसके बाद उन्होंने वहां हंगामा शुरू कर दिया। जिला अस्पताल प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। ग्रामीण और बजरंग दल कार्यकर्ता जिला महिला अस्पताल के गेट के बाहर बैठ गए। घंटों तक अस्पताल में हंगामा चलता रहा।

खबरें और भी हैं...