पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टीचर-स्टूडेंट की मौत बनी मिस्ट्री:जांच सीओ बेहट को सौंपी, मृतक के परिजनों का आरोप ऑनर किलिंग

सहारनपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एसएसपी विपिन ताडा से मिलने पहुंचे गुर्जर समाज के लोग। - Money Bhaskar
एसएसपी विपिन ताडा से मिलने पहुंचे गुर्जर समाज के लोग।

सहारनपुर मोहंड के जंगल में टीचर-स्टूडेंट का शव 20 सितंबर की रात को क्षत-विक्षत अवस्था में मिला था। मृतक टीचर के परिजनों ने एसएसपी विपिन ताडा से मिलकर हत्या की जांच कराने की मांग की है। एसएसपी मामले की जांच सीओ बेहट मुनीश चंद्र को सौंपी है। मृतक के परिजनों ने छह लोगों पर ऑनर किलिंग का आरोप लगाया है।

टीचर की नौकरी छोड़ कर रहा था फैक्ट्री में काम

मृतक विरेंद्र का फाइल फोटो।
मृतक विरेंद्र का फाइल फोटो।

थाना नागल के रसूलपुर खेड़ी के विरेंद्र और नाबालिक का प्रेम प्रसंग कई सालों से चल रहा था। 20 सितंबर की रात को मोहंड के जंगल में दोनों शव क्षत-विक्षत शव मिला। दोनों के शव बुरी तरह सड़ चुके थे। दोनों के शव में कीड़े चल रहे थे। मामले में मृतक के चचेरे भाई कालूराम गुर्जर समाज के लोगों के साथ एसएसपी विपिन ताड़ा से मिला। और ऑनर किलिंग का लड़की पक्ष के छह लोगों पर आरोप लगाया है। परिजनों बताया कि मृतक विरेंद्र टीचर की नौकरी छोड़कर जीएस लाठरदेवा की फैक्ट्री में काम करने लगा था। लेकिन दोनों का संबंध जब भी बना रहा। जिसका विरोध लगातार युवक के परिजन कर रहे थे।

पूर्व प्रधान ने जताई ऑनर किलिंग की आशंका

पोस्टमार्टम के बाहर क्षत-विक्षत अवस्था में विरेंद्र का शव। यह फोटो 20 सितंबर की है।
पोस्टमार्टम के बाहर क्षत-विक्षत अवस्था में विरेंद्र का शव। यह फोटो 20 सितंबर की है।

पूर्व प्रधान शैलेश पंवार ने एसएसपी विपिन ताडा को बताया, '4 सितंबर को परिजनों के फोन से विरेंद्र का संपर्क हुआ था। दोनों उत्तराखंड में थे। जिनका सीसीटीवी फुटेज भी टोल प्लाजा और देहरादून से मिला है। फोन जब बात हुई तो दोनों ने वापस आने की बात कहीं थी। और वह वापस भी आ रहे थे। आरोप है कि जिसका पता लड़की पक्ष को लग गया। हम दोनों का इंतजार कर रहे थे। लेकिन वह नहीं आए। फोन भी बंद आ रहा था। चार सितंबर के बाद से दोनों का कुछ भी पता नहीं चला। ऐसे में कोई अनहोनी की आशंका जताई। आरोप है कि लड़की पक्ष के लोगों ने लड़के पक्ष के परिजनों को विश्वास में लेकर ऑनर किलिंग की है।'

आत्महत्या का नहीं कोई मुद्दा
पूर्व प्रधान का आरोप है, 'जब दोनों ने वापस आने की बात कहीं थी और वापस आ भी रहे थे। तो 20 सितंबर को कैसे उनका शव पुलिस के अनुसार पेड़ पर लटका मिला। सवाल यह भी है कि उनके पास फांसी लगाने को रस्सी या अन्य चीज कहां से आई? आरोप है कि दोनों को मारकर डाला गया था और फांसी दिखाई गई। आरोप यह भी है कि पुलिस की मदद से ऑनर किलिंग को अंजाम दिया गया है। पुलिस साक्ष्यों को छुपा रही है। आरोप है कि पुलिस राजनीतिक दबाव में कार्य कर रही है।'

पुलिस ने नहीं की प्राथमिकी दर्ज मृतक के चचेरे भाई कालूराम का आरोप है,'दोनों की ऑनर किलिंग की तहत हत्या हुई है। लेकिन पुलिस मृतक युवक के आरोप पर भी प्राथमिकी दर्ज नहीं कर रही है। बल्कि राजनीतिक हस्तक्षेप के कारण दोनों की मौत को आत्महत्या घोषित करने की कोशिश कर रही है। जबकि दोनों के पास आत्महत्या करने का कोई मजबूत कारण नहीं था। न ही पुलिस के पास इसका कोई ठोस प्रमाण है।'

गाड़ी की पहचान किसने की?
मृतक युवक के परिजनों का आरोप है, 'घटनास्थल पर जब मृतक युवक के परिजनों को नहीं बुलाया गया। जब सूचना दी, तब तक शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम हाउस पहुंचा दिया था। तो किस प्रकार से उन्हें दोनों के शव मिले। आरोप है कि पुलिस जिस बाइक को मृतक युवक की बता रही है उसकी पहचान कैसे हुई? जबकि पुलिस का कहना है कि कई दिनों से यह बाइक लावारिस खड़ी थी। आरोप है कि कोई भी बाइक हाइवे पर लावारिस इतने दिनों तक नहीं खड़ी रह सकती है। आरोप है कि पुलिस ने ही मोहंड चौकी में बाइक खड़ी कर ली थी। बाद में दोबारा से बाइक को घटनास्थल के पास खड़ा किया।'

यह था मामला
20 सितंबर को 9 बजे पुलिस को मोहंड के जंगल में दो शव पेड़ से लटके होने की सूचना मिली। पुलिस को कुछ दूरी पर एक बाइक भी मिली। जो मृतक की बताई जा रही है। दोनों शव के पास से कोई भी सुसाइड नोट नहीं मिला है और न ही अन्य सामान। पुलिस की जांच में सामने आया कि 4 महीने पहले भी दोनों गायब हो गए थे। पुलिस ने दोनों को 24 घंटे में भीतर तलाश लिया था। छात्रा के बयान भी दर्ज कराए गए थे। इसमें छात्रा ने अपनी मर्जी से जाना बताया था। अपने अपहरण से इनकार किया था। लेकिन दूसरी बार दोनों के फरार होने पर अपहरण का मुकदमा दर्ज कर लिया था।

एसएसपी विपिन ताडा का कहना है, मृतक युवक के परिजनों के आरोप के अनुसार मामले की जांच सीओ बेहट को सौंपी गई है। पुलिस पहले भी सभी एंगल पर जांच कर रही है। पुलिस को विसरा रिपोर्ट का इंतजार है।

खबरें और भी हैं...