पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59037.18-0.72 %
  • NIFTY17617.15-0.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48458-0.16 %
  • SILVER(MCX 1 KG)646560.47 %

सहारनपुर...कोतवाली में प्रार्थना पत्र देकर लगाई सुरक्षा की गुहार:मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के राव मुशर्रफ बोले, तालिबानी सोच के हैं जमीयत उलेमा हिंद उपाध्यक्ष मौलाना असद रहीमी

सहारनपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के जिला

सहारनपुर के थाना देवबंद में मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के जिला संयोजक राव मुशर्रफ अली ने प्रार्थना पत्र देकर अपनी जानमाल की सुरक्षा की गुहार लगाई है। उन्होंने धमकी देने वाले मुरादाबाद के मौलाना असद रहीमी की गिरफ्तारी की मांग की है। आरोप है कि वह पुलिस को 17 नवंबर को भी तहरीर दे चुके हैं, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

05 बार मिल चुकी धमकी
कोतवाली में दिए प्रार्थना पत्र में राष्ट्रीय मुस्लिम मंच के जिला संयोजक राव मुशर्रफ अली ने आरोप लगाया कि मौलाना असद रहीमी उनको 05 बार धमकी दे चुके हैं। उन्होंने कहा कि मौलाना जमीयत से संबंध रखते हैं तथा उनको जमीयत का पूरा संरक्षण प्राप्त है। उन्होंने बताया कि वह इससे पहले विगत 17 नवंबर को भी कोतवाली में तहरीर दे चुके हैं। परंतु पुलिस ने अभी तक भी कोई रिपोर्ट नहीं लिखी है, जबकि उनको अपनी जान का खतरा बना हुआ है।

वॉट्सऐप पर भेजा ऑडियो
राव मुशर्रफ अली ने आरोप लगाया है कि मुरादाबाद के जमीयत उलेमा के उपाध्यक्ष मौलाना असद रहीमी ने उन्हें 05 बार धमकी भरी ऑडियो वॉट्सऐप पर भेज चुके हैं। ऑडियो में कहा गया है कि आप मुसलमान नहीं हो, हिंदू है और आप मुसलमान होने का ढोंग कर रहे हैं। तुम्हें दाढ़ी और टोपी उतारनी होगी। आपने जो मुसलमानों के नाम का चौला पहना है वह भी उतारना होगा। हिंदू समाज से बिल्कुल ताल्लुक नहीं रखोगे। उन्होंने आरोप लगाया कि वह 100-200 साल हवाला देते हुए कहा है कि हिंदू समाज किसी का नहीं हो सकता है। उन्होंने आरोप लगाया है कि मौलाना ने जिन्ना और अबुल कलाम का हवाला दिया है।

पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई
राव मुशर्रफ अली का आरोप है कि मौलाना असद रहीमी तालिबानी सोच का व्यक्ति है। वह जमीयत उलेमा के इशारे पर यह कार्य कर रहा है। मेरे खिलाफ षडयंत्र रचाया जा रहा है। वहीं पुलिस को भी दो बार तहरीर दे दी है, लेकिन पुलिस कोई भी कार्रवाई नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि वह काफी समय से मंच की विचारधारा से जुड़े है तथा मुस्लिम समाज में फैली बुराइयों को लेकर मुखर रहे हैं। वह समाज में फैली बुराइयों का विरोध जमीयत के लोगों को अच्छा नहीं लग रहा है, इसीलिए अनेक स्तर से राव मुशर्रफ को परेशान करने के साथ-साथ धमकी दी जा रही है। उनका कहना है कि अफसोस की बात यह है कि पिछले डेढ़ माह से राव मुशर्रफ को लगातार धमकी मिल रही है, मगर प्रशासनिक अधिकारी चुप्पी साधे हैं।

इंस्पेक्टर प्रभाकर कैंन्तुरा का कहना है कि पुराने मामले की जानकारी नहीं है। गुरुवार को तहरीर आई है। मामले की जांच की जाएगी।