पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कैसे काम करता है हनीट्रैप, जानिए इन कहानियों से:सहारनपुर में 15 से अधिक बने शिकार, खींची अश्लील तस्वीरें; प्रॉपर्टी डीलर को रेप में फंसाया

सहारनपुर2 महीने पहलेलेखक: अमित गुप्ता
  • कॉपी लिंक

वेस्ट यूपी में हनीट्रैप में फंसे 49 लोगों से लाखों रुपए ऐंठे गए, ऐसा आरोप है। सहारनपुर से 15 से ज्यादा लोग शिकार बनाए गए हैं। 2 साल पहले शुरू हुई इस कहानी की मुख्य आरोपी लड़की मुस्कान अब पुलिस की निगरानी में है। मुस्कान के गिरोह की ब्लैकमेलिंग के शिकार हुए ऐसे ही दो लोगों की कहानी दैनिक भास्कर आपके सामने लेकर आया है।

खबर में आगे बढ़ने से पहले पोल में हिस्सा ले सकते हैं...

अब आपको गैंग के चंगुल में फंसे लोगों की आपबीती पढ़वाते हैं...

इंस्टाग्राम पर फॉलो किया, फिर जिम से ले गई घर, खींच ली अश्लील फोटो

शाहरुख के मुताबिक पहली बार जिम में ही मुस्कान से मुलाकात हुई।
शाहरुख के मुताबिक पहली बार जिम में ही मुस्कान से मुलाकात हुई।

​​​​गैंग के चुंगल में फंस चुके शाहरुख टैक्सटाइल का बिजनेस करते हैं। मुस्कान से उनकी मुलाकात इंस्टाग्राम के जरिए हुई थी। बातचीत के बाद मोबाइल नंबर एक्सचेंज हुए। एक ओर दोनों में बातचीत हो रही थी। दूसरी तरफ मुस्कान का गैंग शाहरुख की रैकी करने में लगा था। बेहट रोड पर वह जिम करता था, तो मुस्कान भी उसी जिम में जाने लगी।

टाइम शेड्यूल भी शाहरुख के हिसाब से रखा गया। अब दोनों की मुलाकात जिम में होने लगी। अपनी मजबूरियों को हवाला देकर कई बार पैसा मांगे। कभी किराया देने का बहाना, तो कभी काम न मिलने का एक्सक्यूज। जब शाहरुख ने रुपए वापस मांगे, तब मुस्कान की असलियत भी सामने आ गई।

घर चाय पीने के लिए बुलाया और फोटो खींच ली
शाहरुख ने दैनिक भास्कर को बताया कि उसने एक बार हिसाब लगाया तो चार लाख रुपए तक दे चुका था। मुस्कान की डिमांड बढ़ती जा रही थी। शाहरुख का आरोप है कि मुस्कान ने उसे अपने घर चाय पीने के लिए बुलाया था। जब वह उसके घर पहुंचे तो उसने अचानक चाय ही उसके ऊपर डाल दी। कपड़े बदलने गया तो पीछे से आ गई और अश्लील फोटो खींच लिए। उसी को लेकर वह लगातार ब्लैकमेल कर रही थी।

शाहरुख के मुताबिक, 'एक समय ऐसा आया कि मुस्कान और उसके गैंग से इतना परेशान हो गया कि डिप्रेशन में पहुंच गया। घर वालों को बताना चाहता था, लेकिन बता नहीं पा रहा था। एक बार सोचा सुसाइड कर लूं'। परिजनों से सलाह कर फिर इस गैंग के खिलाफ आवाज उठाने की सोची।

प्लॉट खरीदने के बहाने बुलाया, फिर रेप के आरोप लगाए

शहजाद के मुताबिक सहारनपुर में बेहट रोड पर रहनेवाले लोग ही टारगेट बनाए गए।
शहजाद के मुताबिक सहारनपुर में बेहट रोड पर रहनेवाले लोग ही टारगेट बनाए गए।

शहजाद पेशे से प्रॉपर्टी डीलर हैं। उनके पास एक दिन प्लाट खरीदने के लिए फोन आया। वह शहर में नहीं थे। पहले उन्होंने मना किया। मुस्कान उससे ही मिलकर प्लॉट लेने की जिद पर अड़ गई। शहजाद ने भी 2 दिन बाद आने को कहा। मुस्कान के मुताबिक उसको दिल्ली से आना था। उसने दो दिन बाद फोन करके बताया कि वह दिल्ली से सहारनपुर पहुंच चुकी है। शहजाद का कहना है कि मुस्कान उसके ऑफिस में आई और अपने कपड़े फाड़कर शोर मचा दिया। इसके बाद ऑफिस के बाहर खड़े कुछ साथी भी वहां आ गए।

शोर सुनकर शहजाद का दोस्त नदीम प्रधान आ गया। उसने सभी को भगा दिया। बात यहीं नहीं खत्म हुई। थाने से फोन आया और बलात्कार का मुकदमा लिखा गया। बाद में जो दोस्त उनके बचाव में आए, उनके नाम भी इस केस में शामिल करवाए गए। इस मामले में भी जांच के बाद हनीट्रैप गिरोह के तीन लोगों की गिरफ्तारी हुई थी। शहजाद के मुताबिक बाद में उन्हें अपने जैसे और पीड़ितों के बारे में पता चला। थोड़ा स्टडी की तो सामने आया कि इस गैंग ने जो भी वारदातें की, वो थाना मंडी और थाना देहात क्षेत्र में ही की।