पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सहारनपुर...हरियाणा से तिगुना दामों में बिक रहा खनिज:हरियाणा के खनन व्यापारियों ने सहारनपुर जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा, खनिज अभिवहन खुलवाने की मांग की

सहारनपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एडीएम को ज्ञापन सौपते हरियाणा - Money Bhaskar
एडीएम को ज्ञापन सौपते हरियाणा

यूपी के सहारनपुर में हरियाणा से खनिज अभिवहन पर 28 सितंबर 2019 से जिला प्रशासन ने रोक लगाई हुई है। ऐसे में हरियाणा राज्य में खनिज अभिवहन, भंडारण व उत्पादन करने वाले व्यापारियों ने सहारनपुर के जिला मुख्यालय में पहुंचकर ADM F रजनीश दुबे को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के माध्यम से खनिज अभिवहन पर से रोक हटाने की मांग की गई। खनन व्यापारियों का कहना है कि हरियाणा से एक नंबर का खनिज लाने में भी जिला प्रशासन ने रोक लगाई हुई है। जबकि वह माल पर रायल्टी का भुगतान और GST भी सरकार को भरते हैं। उनका कहना है कि देश के राज्यों में एक नंबर का खनन वाहन नहीं चलेगा तो किस प्रकार से लोगों को महंगाई से राहत मिलेगी है।

बॉर्डर पर करने का आरोप लगाया
खनिज व्यापारियों का कहना है कि हरियाणा से लाकर माल यूपी में उचित कीमत पर बेचने का व्यापार करते हैं। मुख्य मांगों से खनिज का अभिवहन किया जाता है। उन्होंने आरोप लगाया है। दूसरे राज्यों से आने वाले खनिज पर कुछ लोग गैर कानून रुप से शुल्क वसूलते हैं। यह भुगतान यूपी की सीमा में प्रवेश करने से पहले ही ले लिया जाता है। उनका कहना है कि इसके बाद भी वाहनों के रास्तों को रोक दिया गया, जिससे यूपी सरकार के राजस्व में भी क्षति हो रही है।

बिहारीगढ़ और शाहजहांपुर पर चेकपोस्ट प्रतिबंधित
खनिज व्यापारियों का कहना है कि सहारनपुर में बिहारी गढ़ और शाहजहांपुर चेकपोस्ट हैं, जो राष्ट्रीय राजमार्ग पर है। उनका कहना है कि केंद्र व राज्य सरकार राष्ट्रीय राजमार्ग पर कोई भी चेकपोस्ट पर प्रतिबंध लगाया हुआ है। पूर्व में राज्य सरकार द्वारा हाई पावर कमेटी की रिपोर्ट में भी स्वीकार किया गया है कि पूर्व में स्थापित चेकपोस्ट हटाए थे। उसके बाद राष्ट्रीय राजमार्ग पर कोई चेकपोस्ट स्थापित करने के लिए निर्देशित नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि जबकि यूपी में खनिज अभिवहन के लिए हरियाणा से कई रास्ते जुड़े है, जिनको रास्ते खुदाई कराकर बंद करा दिए गए हैं, जो नागरिकों के मौलिक अधिकार भारतीय संविधान के अनुच्छेद 19 (1) (d) का खुला उल्लंघन है।

यूपी के लोगों को मिलेगी राहत
हरियाणा से खनिज यूपी में खनिज न आने से रेत, बजरी व अन्य खनिज महंगे हो गए है। बाहर का खनिज बंद होने से लोकल खनिज ठेकेदार गरीब जनता से दो से तीन गुणा तक दाम वसूलती है। हरियाणा से 35 से 40 रुपये कुंतल के हिसाब से रेत गरीब जनता के घर पहुंच जाता है। जबकि हरियाणा का खनन बंद होने से यहीं रेत 90 से 110 रुपये कुंतल बिक रहा है। ऐसे में गरीब जनता की जेबों पर अधिक भार पड़ रहा है।

यह रहे मौजूद
विपिन गुर्जर, सलीम सैफी, रवित चौधरी, सुमित, राजू कुमार, जगराम, जावेद, आसिफ, अदनान, दानिश, जुनैद, जाबिर, जमशेद, मौसम, मौ.इनाम, कालू व करण सिंह आदि मौजूद रहे।

ADM F रजनीश दुबे का कहना है कि हरियाणा से कुछ खनिज व्यापारियों ने जिला मुख्यालय पहुंचकर खनिज अभिवाहन खुलवाने को लेकर ज्ञापन दिया है। मामले को लेकर उच्च अधिकारियों से बात की जाएगी, जो भी कानून के हिसाब से सही होगा। वह किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...