पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पटरी पर लौटीं रद 16 ट्रेनें:अग्निपथ के विरोध के बाद रेलवे ने बंद कर दी थी सेवा, एक करोड़ के राजस्व का हुआ नुकसान

सहारनपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अग्निपथ योजना के विरोध में देशभर में हो रहे प्रदर्शन के कारण रेलवे ने 16 ट्रेनों को रद कर दिया था। रेलवे स्टेशन अधीक्षक एके त्यागी का कहना है कि ज्यादातर ट्रेनें बिहार जाने वाली थी। मामला शांत होने के बाद पंजाब, हरियाणा और दिल्ली को आने जाने वाली इन ट्रेनों को अब बहाल कर दिया गया है।

करीब 10 दिनों तक ट्रेनों के निरस्त रहने से यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा था। मगर, अब ​​​जननायक, शहीद एक्सप्रेस समेत सभी रद ट्रेनों के चलने से यात्रियों को खासी राहत मिली है।

सहारनपुर रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की संख्या एक बार फिर से बढ़ने लगी है।
सहारनपुर रेलवे स्टेशन पर यात्रियों की संख्या एक बार फिर से बढ़ने लगी है।

ट्रेनें चलने के बाद यात्रियों की संख्या बढ़ी
ट्रेनों के संचालन की स्थिति सामान्य होने से अब ट्रेनों में सीटों को लेकर मारामारी मच रही है। यात्रियों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है। ट्रेनें के रद होने से रेलवे को करीब एक करोड़ रुपए से ज्यादा राजस्व की हानि हुई है।

बिहार और रांची में मच रहा था बवाल
अग्निपथ के विरोध में बिहार और रांची में सबसे ज्यादा उपद्रव मचा था। युवाओं ने कई ट्रेनों को आग के हवाले कर दिया था। इससे भी रेलवे को देशभर में करीब 1100 करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ा। लिहाजा, जन और धन का नुकसान बचाने के लिए रेलवे को उपद्रव वाले मार्गों पर चलने वाली ट्रेनों को रद कर दिया था।

एक ट्रेन बनाने का खर्च 50 से 68 करोड़ रुपए

किसी एक्सप्रेस ट्रेन को बनाने में करीब 68 करोड़ रुपये का खर्चा आता है। एक्सप्रेस ट्रेन में 24 कोच होते हैं। तो 2 करोड़ रुपए प्रति कोच के हिसाब से इसकी कीमत 48 करोड़ रुपए होती है। इसके इंजन की कीमत 20 करोड़ रुपये तक होती है। सामान्य पैसेंजर ट्रेन को बनाने में कुल 50 से 60 करोड़ रुपये का खर्च आता है क्योंकि इन ट्रेनों के कोच में एक्सप्रेस ट्रेनों के मुकाबले सुविधाएं थोड़ी कम होती हैं।

एक रिपोर्ट के मुताबिक सिर्फ बिहार में प्रर्दशनकारियों ने 10 ट्रेनों को आग के हवाले किया। इस हिसाब से केवल बिहार में एक ट्रेन के जलने पर औसत 60 करोड़ रुपे नुकसान हुआ है। अगर 10 ट्रेन की बात करें तो, 700 करोड़ का नुकसान केवल ट्रेन के जलने से हुआ है। इसमें यात्रियों को जो परेशानी हुई और टिकट कैंसिल होने की वजह से होने वाला नुकसान अलग है।

यह रद ट्रेनें बहाल कर दी गई हैं

ट्रेन संख्याट्रेन का नाम
04600सहारनपुर-नई दिल्ली इंटर सिटी स्पेशल एक्सप्रेस
04404सहारनपुर-दिल्ली मैमो स्पेशल
22355पाटलीपुत्र-चंडीगढ़ सुपर फास्ट एक्सप्रेस
04402सहारनपुर-दिल्ली डीएमयू पैसेंजर
12317

सियालदाह-अमृतसर अकाल तख्त एक्सप्रेस

15212अमृतसर-दरभंगा जननायक एक्सप्रेस
13307धनबाद-फिरोजपुर गंगा सतलुज एक्सप्रेस
15903डिब्रुगढ़-चंडीगढ़ एक्सप्रेस
04403दिल्ली-सहारनपुर
14673

जय नगर-अमृतसर शहीद एक्सप्रेस

04460सहारनपुर-नई दिल्ली मैमो पैसेंजर
04401

दिल्ली-सहारनपुर डीएमयू

15531सहरसा-अमृतसर एक्सप्रेस
14646जयनगर-अमृतसर एक्सप्रेस
15532अमृतसर-सहरसा एक्सप्रेस
12332जम्मूतवी-हावड़ा हिमगिरी एक्सप्रेस
खबरें और भी हैं...