पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बरसात और ओलावृष्टि ने बढ़ाई किसानों की परेशानी:स्वार में हरी मिर्च की फसल को बड़ा नुकसान, लागत निकालना भी हुआ मुश्किल

स्वारएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बरसात और ओलावृष्टि से खराब हुई हरी मिर्च की फसल को भरते किसान। - Money Bhaskar
बरसात और ओलावृष्टि से खराब हुई हरी मिर्च की फसल को भरते किसान।

रामपुर की तहसील स्वार क्षेत्र में बीते दिनों आई तेज हवा आंधी तूफान के साथ हुई ओलावृति से किसानों को हरी मिर्च की फसल में बड़ा नुकसान देखने को मिला है, जिस तरह से किसान अपनी फसल को पालने के लिए दिन रात मेहनत करके फसल की उगाता है। अब आंधी तूफान और ओलावृष्टि के बाद फसल की लागत निकालना भी मुश्किल हो रहा है।

ओलावृष्टि से हुए फसल में नुकसान को देखते हुए अंदाजा लगाया जा सकता है कि किसान को उसकी मेहनत के साथ साथ खेत मे लगी लागत भी वापस नही आ रही है। ओलावृति से पहले किसानों को हरी मिर्च की खेती में काफी बड़ा इजाफा मिल रहा था, लेकिन अब किसानों को बड़ा नुकसान फसल में ओलावृष्टि से झेलना पड़ रहा है।

बारिश और ओलावृष्टि से हरी मिर्च की फसल खराब हो गई।
बारिश और ओलावृष्टि से हरी मिर्च की फसल खराब हो गई।

हरी सब्जियों को भारी नुकसान
रामपुर की तहसील स्वार क्षेत्र में लगभग 40 प्रतिशत किसान हरी सब्जी की खेती करते हैं। हरी सब्जी करने बाले किसानों को भी फसल में नुकसान झेलना पड़ा है। स्वार क्षेत्र के गाव धनोरी के किसानों ने अपनी हरी मिर्च को बोरों में भरते हुए बताया कि इस साल अन्य सालों की अपेक्षा अच्छी फसल हुई थी, जिससे मुनाफे की उम्मीद थी, लेकिन बारिश के बाद फसलों को इतना नुकसान हुआ है कि लागत निकलना भी मुश्किल हो गया है।

लागत निकालना भी मुश्किल
हरी मिर्च की फसल से क्षेत्र के किसानों को बड़ा फायदा हुआ था, लेकिन लगातार आई आंधी तूफान बरसात के साथ ओलावृष्टि ने से किसानों को बड़ा नुकसान हुआ है। हरी सब्जियों और हरी मिर्च में हुए नुकसान से किसानों के चेहरे पर उदासी साफ दिखाई पड़ रही है, जहां मुनाफा तो दूर लागत निकालना भी मुश्किल हो रहा है।

खबरें और भी हैं...