पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रामपुर कोर्ट में पेशी पर नहीं पहुंचे आजम खान:मजिस्ट्रेट ट्रायल कोर्ट में एसबीआई प्रबंधक से हुई जिरह, सेशन ट्रायल कोर्ट में नहीं हुई सुनवाई

रामपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पूर्व मंत्री और रामपुर शहर विधायक आजम खान के खिलाफ चल रहे दो पैन कार्ड मामले में आज एसबीआई के प्रबंधक से जिरह हुई। एमपीएमएलए मजिस्ट्रेट ट्रायल कोर्ट में एसबीआई के प्रबंधक से अधिवक्ताओं ने जिरह की। वही एमपी एमएलए कोर्ट सेशन ट्रायल में न्यायाधीश के छुट्टी पर होने के चलते सुनवाई नहीं हो सकी।

दोनों कोर्ट में आजम खान और उनके विधायक बेटे अब्दुल्लाह आजम को पेशी के लिए पहुंचना था, लेकिन इस दौरान उनके अधिवक्ता ने एप्लीकेशन फाइल की। हाजिरी माफी की गुहार पर मजिस्ट्रेट ट्रायल न्यायाधीश ने आजम खान और अब्दुल्ला आजम को हाजिरी माफी दे दी।

मामले में आजम खान के खिलाफ चार्ज फ्रेम किए जा चुके हैं। अब गवाहों से जिरह की जाएगी। मजिस्ट्रेट ट्रायल कोर्ट ने अगली सुनवाई के लिए 31 मई की तारीख मुकर्रर की है। आजम खान और अब्दुल्ला आजम आज लखनऊ में होने के चलते तारीख पर पेश नहीं हो सके।

सख्त हिदायत के बाद भी नहीं पेश हुए आजम
आजम खान को आज रामपुर की एमपी एमएलए कोर्ट मजिस्ट्रेट ट्रायल में पेश होना था। इस बार न्यायालय ने उन्हें सख्त हिदायत देते हुए न्यायालय में पेश होने को कहा गया था, लेकिन सख्त हिदायत के बाद भी आजम खान आज पेशी पर नहीं पहुंचे।

दरअसल, उनकी पेशी कोरोना काल के चलते सीतापुर जेल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हो रही थी। इस बार जेल में रहते हुए न्यायालय ने उन्हें पेश होने के आदेश दिए थे। इसी बीच आजम खान जेल से रिहा हो गए। आज उन्हें पेशी के लिए न्यायालय में हाजिर होना था, लेकिन आजम खान आज पेशी पर नहीं पहुंचे।

जान का खतरा बताकर आज़म ने गोपनीय रखा है दौरा
हालांकि आजम खान के मूवमेंट को लेकर कोई भी खुलकर बताने को तैयार नहीं है। खुद आजम खान ने भी अपनी जान का खतरा बताकर अपने दौरे को गोपनीय रखा है। आजम खान का कहना है कि उनका अगला कदम या कहां का दौरा है यह उन्हें खुद नहीं पता। आजम खान आज लखनऊ में ही रहे लेकिन हाउस में नहीं पहुंचे।

रामपुर में आजम खान के 24 मुकदमों में होनी है गवाहियां
आज़म खान पर रामपुर में डूंगरपुर बस्ती उजाड़ कर आसरा कॉलोनी बनाए जाने के आरोप में 12 मुकदमे बस्ती निवासियों द्वारा दर्ज कराए गए थे। इसके अलावा मोहल्ला घोसीयान में कब्जा कर रामपुर पब्लिक स्कूल बनाए जाने के आरोप में भी आजम खान पर 12 मुकदमे मोहल्ले वासियों द्वारा दर्ज कराए गए थे।

इन सभी 24 मामलों में एमपी एमएलए कोर्ट में आजम खान पर आरोप तय किए जा चुके हैं और गवाहियां होनी हैं। साथ ही दो पैन कार्ड मामले में भी सुनवाई होनी है, जिसके चलते उन्हें अदालत में पेश होने का हुक्म दिया गया है। आजम खान पर चार्ज फ्रेम किए जाने के बाद एमपी एमएलए कोर्ट में गवाहियाँ चल रही हैं।

खबरें और भी हैं...