पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भावाधस ने कुरीतियों को दूर करने का उठाया बीड़ा:बिलासपुर में बोले- वाल्मीकि समाज नशा छोड़ बच्चों को पढ़ाने का ले संकल्प

बिलासपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रामपुर जिले के बिलासपुर नगर के मोहल्ला पंजाबी कॉलोनी स्थित श्री सनातन धर्मशाला में भारतीय वाल्मीकि धर्म समाज के तत्वावधान में मंगलवार को 58 वां स्थापना दिवस मनाया गया।कार्यक्रम की शुरूआत मुख्य अतिथि भावाधस के राष्ट्रीय निदेशक वीरोत्तम दीप लव व विशिष्ट अतिथि वीर श्रेष्ठ दीप सिंह राही ने दीप प्रज्वलित कर किया।

किया गया स्वागत

इस मौके पर जानू चौहान, श्याम वाल्मीकि,मनीष वाल्मीकि,गौरव वाल्मीकि,विशाल वाल्मीकि,शिवम राज,सनी वाल्मीकि,राजू नरेश वाल्मीकि, राहुल नरेश वाल्मीक,अमित सागर,सोमपाल वाल्मीकि आदि उपस्थित रहे। इससे पूर्व अतिथियों का फूल माला पहनाकर स्वागत किया गया।

कुरीतियों को दूर करें

वीरोत्तम दीप लव ने कहा जब तक वाल्मीकि समुदाय शिक्षित,संगठित नही होगा। तब तक उसका उत्थान नही होगा। उन्होंने कहा हम सबको मिलकर समाज में फैली कुरीतियों को दूर कर संगठन को मजबूत बनाना होगा।संगठन से ही जाग्रति आती है। जाग्रति ही लाना मुख्य उद्देश्य होना चाहिए।

नशा छोड़ शिक्षा ग्रहण कराएं

जिलाध्यक्ष प्रेमनरेश वाल्मीकि ने कहा कि 58वें स्थापना दिवस पर वाल्मीकि समाज को संकल्प लेना होगा। समाज में व्याप्त अंहकार,अंधविश्वास,भूत-पूजा नशाखोरी को त्याग कर ज्यादा से ज्यादा बच्चों को शिक्षा ग्रहण कराएं।ताकि समाज आगे बढ़ सकें।तरक्की हो सकें।

खबरें और भी हैं...