पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एनटीपीसी के गेट पर मजदूर को शव रखकर हंगामा:परिजनों ने जमकर की नारेबाजी, कंपनी में काम के दौरान हादसे में हो गई थी मजदूर की मौत

ऊंचाहार, रायबरेलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एनटीपीसी विद्युत तापीय परियोजना के जिम्मेदारों की लापरवाही के चलते बीडीएल कोल हैंडलिंग कंपनी में ऊंचाई पर काम करते वक्त मजदूर की गिरने से मौत हो गई थी। आक्रोशित परिजनों ने गुरुवार को सैकड़ों ग्रामीणों के साथ शव को परियोजना के मुख्य द्वार पर रखकर जमकर हंगामा किया। एसडीएम ने पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचकर समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया है।

कन्वेयर बेल्ट ठीक करने के दौरान 70 फीट ऊपर से गिरा

बहेरवा गांव निवासी शमशाद एनटीपीसी परियोजना की बीडीएल कोल हैंडलिंग कंपनी में दिहाड़ी श्रमिक के रूप में कार्य करता था। बुधवार की देर रात वह परियोजना में कार्य कर रहा था। रात करीब एक बजे कन्वेयर बेल्ट में तकनीकी खराबी आ गई। सीढ़ियों के सहारे 70 फीट की ऊंचाई पर चढ़कर सही कर नीचे उतर रहा था। तभी उसका संतुलन बिगड़ गया और वह 70 फीट की ऊंचाई से जमीन पर आ गिरा। हादसे में उसकी मौत हो गई। इससे परियोजना में कार्य कर रहे मजदूरों में रोष व्याप्त हो गया।

युवक की मौत के बाद रोते-बिलखते परिजन।
युवक की मौत के बाद रोते-बिलखते परिजन।

पत्नी का नौकरी और मुआवजे की मांग

बृहस्पतिवार की दोपहर करीब दो बजे परिजन शव लेकर परियोजना के मुख्य द्वार पर पहुंच गए और मुआवजा तथा पत्नी को नौकरी देने की जिद करते हुए हंगामा शुरू कर दिए। मामला बिगड़ता देख परियोजना के अधिकारियों ने सूचना एसडीएम समेत कोतवाली पुलिस को दी। एसडीएम राजेश कुमार ने कोतवाल शिव शंकर सिंह के साथ बड़ी संख्या में पुलिस बल लेकर मौके पर पहुंचे। इस बीच सहायक श्रम आयुक्त संतलाल, श्रम प्रवर्तन अधिकारी मनोज कुमार यादव, अंकित सिंह वरिष्ठ सहायक केडी पांडेय के साथ मौके पर पहुंचे और मृतक के परिजनों को 15 लाख 44 हजार छह सौ 25 रुपए का मुआवजा एनटीपीसी परियोजना से दिलाने के साथ अन्य मदद दिलाए जाने का भरोसा दिलाया।

हंगामा कर रहे लोगों को समझाते पुलिस अधिकारी।
हंगामा कर रहे लोगों को समझाते पुलिस अधिकारी।

एसडीएम ने समझा-बुझाकर कराया शांत

इसके बाद एसडीएम के समझाने बुझाने पर किसी तरह मामला शांत हुआ और परिजन शव लेकर अंतिम संस्कार के लिए घर चले गए। एसडीएम राजेश कुमार ने बताया कि मृतक के परिजनों समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया गया है। पीड़ित की यथासंभव मदद की जाएगी।

खबरें और भी हैं...