पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57276.94-1 %
  • NIFTY17110.15-0.97 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48432-0.52 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62988-1.1 %

रायबरेली में सामने आई अफसरों की लापरवाही:कार्तिक पूर्णिमा के मेले की अब तक नहीं हुई तैयारी, दो सप्ताह में नहीं दे पाए रिपोर्ट

रायबरेली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रायबरेली में सामने आई अफसरों की बैठक से नदारद रहे जिला पंचायत और जल निगम के अधिकारी। - Money Bhaskar
रायबरेली में सामने आई अफसरों की बैठक से नदारद रहे जिला पंचायत और जल निगम के अधिकारी।

रायबरेली में लगने वाले एतिहासिक कार्तिक पूर्णिमा के मेले की तैयारियां अफसर अब तक पूरी नहीं करवा पाए हैं। इस मेले को सरकार ने राजकीय मेला घोषित कर दिया है। इसके बाद भी मेला स्थल पर साफ-सफाई नहीं करवाई गई है। न ही पेयजल की व्यवस्था की गई। वहां लगे हैंडपंप खराब पड़े हैं।

खराब पड़े हैं 20-25 हैंडपंप

जिले के डलमऊ में लगने वाले ऐतिहासिक कार्तिक पूर्णिमा मेला की तैयारियां चल रही है। मेले को राजकीय मेला घोषित कर दिया गया है। जिससे अब उसके लिए बजट भी घोषित कर दिया गया है। फिर भी कुछ विभागों के अफसर अपनी जिम्मेदारियों से बचते नजर आ रहे हैं। 1 महीने पहले हुई बैठक में सभी विभागों द्वारा मेले की तैयारियों का खाका तैयार करने को कहा गया था। जिसकी रिपोर्ट 2 हफ्ते में देनी थी। एक महीने बाद हुई बैठक मैं जिम्मेदार अफसर अपनी तैयारियों की जानकारी नहीं दे पाए। यही नहीं जिला पंचायत तथा जल निगम जैसे महत्वपूर्ण विभाग के अफसर ही बैठक से नदारद रहे। मेला क्षेत्र में पेयजल की समस्या सबसे बड़ी समस्या होती है। यहां लगे खराब पड़े 20 से 25 इंडिया मार्का हैंडपंप नहीं सही कराए गए। मेला क्षेत्र में आने वाले लोगों को स्नान करने वालों के पार्किंग की व्यवस्था पर भी अभी प्रशासन असमंजस की स्थिति में बना हुआ है।

लगभग ढाई करोड़ रुपए हो सकते हैं खर्च

भागीरथी गेस्ट हाउस के सामने खाली पड़ी जमीन का भी निरीक्षण करने एसडीएम पहुंचे लेकिन कोई निर्णय नहीं हो सका। हालांकि नगर पंचायत अपनी सभी तैयारियां पूर्ण करने का दावा कर रहा है। इस बार भारी-भरकम बजट खर्च होने का अनुमान लगाया जा सकता है। लाइट व्यवस्था के लिए मेला क्षेत्र में 25 लाख रुपए खर्च होने का अनुमान है। जबकि संपूर्ण बजट ढाई करोड़ के आसपास खर्च होने का अनुमान है।