पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रायबरेली डबल मर्डर केस में पुलिस के हाथ खाली:24 घंटे बाद भी हत्यारों का नहीं लगा सुराग, पुलिस को करीबियों पर शक

रायबरेली8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस मामले की जांच कर रही है। - Money Bhaskar
पुलिस मामले की जांच कर रही है।

रायबरेली में महिला और उसकी भतीजी के मर्डर केस में 24 घंटे बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं। घटनास्थल पर मिले सबूतों के आधार पर पुलिस को करीबियों पर शक है। पुलिस मृतका की बेटी की तहरीर पर केस दर्जकर मामले की जांच में जुटी हुई है।

घटना स्थल से पुलिस को घर के अंदर तीन कुर्सियां पड़ी मिली हैं। चार कपों में थोड़ी-थोड़ी चाय भी पड़ी मिली थी। पास ही में बिस्कट और नमकीन पड़ा हुआ था। वहीं घर के अंदर कप पड़े हुए थे और घर से कुछ दूरी पर स्थित एक खेत में एक कप पड़ा हुआ मिला। वहीं मौके से दो ग्लास और एक कटोरी भी बरामद हुआ है। कटोरी में नमकीन होने की पुष्टि पुलिस ने की है।

6 टीमें कर रहीं हत्यारों की तलाश

साक्ष्यों के आधार पर यह कहा जा सकता है कि घटना करने करने वाले जान-पहचान के लोग ही थे। हत्यारे दो या चार या इससे अधिक संख्या में थे। एसपी श्लोक कुमार की ओर से वर्कआउट के लिए एसओजी टीम के साथ आधा दर्जन टीमें गठित कर दी गई हैं।

सभी टीमें प्रतापगढ़, सुल्तानपुर के साथ आसपास के जिलों में काम कर रही हैं। आईजी रेंज लखनऊ लक्ष्मी सिंह के मुताबिक, मौके से कई अहम साक्ष्य भी पुलिस के हाथ लगे हैं। इससे हत्यारों तक पहुंचना और आसान हो गया है।

डबल मर्डर की सूचना पर बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ लग गई थी।
डबल मर्डर की सूचना पर बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ लग गई थी।

बेटी की तहरीर पर मुकदमा दर्ज

पुलिस ने मृतका राधा सिंह की बेटी रश्मि सिंह की तहरीर पर अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। मृतका की पुत्री रश्मि सिंह की भी शादी नसीराबाद थाना क्षेत्र के कुढा गांव में हुई है और वह अपनी ससुराल में रहती है। वारदात की सूचना पाकर वह भी मौके पर पहुंची है।

क्या है मामला?

डीह थाना क्षेत्र के ठोकरे मजरे कचनावा गांव की रहने वाली महिला गांव के बाहर मकान बनाकर अलग रहती थी। उसका पति करीब 15 साल पहले अचानक घर से लापता हो गया। उसका बेटा मध्य प्रदेश में रहकर प्राइवेट नौकरी करने लगा। बेटी की शादी कर दी तो वह ससुराल में रहनी लगी। जिसके बाद वह घर पर अकेली पड़ गई।

महिला ने अपनी भतीजी को घर ले आई और उसके साथ रहने लगी। मृतका ने उसका स्कूल में दाखिला भी करा दिया था। शनिवार रात हमलावरों ने महिला व उसकी भतीजी की अलग-अलग कमरों में धारदार हथियार से गला रेतकर हत्या कर दी।