पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाहुबली अतीक की पत्नी लड़ेंगी चुनाव:प्रयागराज की शहर पश्चिमी सीट से AIMIM के टिकट पर उतरेंगी मैदान में; भाजपा को देंगी टक्कर

प्रयागराज5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्व सांसद और बाहुबली अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन। - Money Bhaskar
पूर्व सांसद और बाहुबली अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन।

प्रयागराज शहर पश्चिमी से AIMIM (ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन) के उम्मीदवार को लेकर सस्पेंस लगभग खत्म हो चुका है। पूर्व सांसद और बाहुबली अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन शहर पश्चिमी से पार्टी की उम्मीदवार होंगी। उन्होंने चुनाव लड़ने को लेकर सहमति दे दी है। पहले यहां से अतीक के भाई खालिद अजीम उर्फ अशरफ के चुनाव लड़ने को लेकर कयास लगाए जा रहे थे।

उल्लेखनीय है कि इस सीट से भाजपा प्रवक्ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह विधायक हैं। लगभग तय है कि वह इसी विधानसभा सीट से फिर भाजपा प्रत्याशी होंगे। इसी विधानसभा क्षेत्र में पिछले दिनों मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अतीक अहमद की कब्जा मुक्त जमीन पर गरीबों के लिए आशियाना बनाने के लिए भूमि पूजन किया था।

अफसर महमूद बोले- पार्टी जल्द करेगी घोषणा

भास्कर से बातचीत में AIMIM पार्टी मंडल प्रवक्ता अफसर महमूद ने बताया कि शहर पश्चिमी से पूर्व सांसद अतीक अहमद के परिवार से चुनाव लड़ने को लेकर असमंजस की स्थिति थी। वह अब खत्म हो गई है। उन्होंने बताया कि पिछले दिनों पार्टी ज्वाइन करने वाली शाइस्ता परवीन ने चुनाव लड़ने को लेकर सहमति व्यक्त कर दी है। पार्टी जल्द इसकी घोषणा करेगी।

शहर पश्चिमी पर अतीक का रहा है दबदबा

पूर्व सांसद और 5 बार विधायक रहे अतीक अहमद की पत्नी शाइस्ता परवीन AIMIM में पिछले दिनों लखनऊ में शामिल हुई थीं। प्रयागराज की शहर पश्चिम सीट पर अतीक अहमद का खासा प्रभाव है। वह यहां से एक बार अपने भाई खालिद अजीम उर्फ अशरफ को भी जिता चुके हैं। अतीक की पत्नी के चुनाव मैदान में आने से सपा के परंपरागत मुस्लिम वोटों में सेंधमारी हो सकती है।

चुनावी आंकड़ों पर नजर डालें तो 1989, 1991, 1993 में निर्दलीय विधायक रहे अतीक के दम पर ही यहां सपा ने जीत का परचम लहराया था। अतीक ने 1996 में भाजपा के तीरथ राम कोहली को 35,099 वोट से हराया था। 2002 में अतीक ने अपना दल के टिकट पर सपा के गोपालदास यादव को 11,808 वोट से पराजित किया। 1989 से 2002 तक इस सीट पर मुस्लिम मतदाताओं के समीकरण अतीक पर ही टिके रहे हैं।

खबरें और भी हैं...