पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57200.23-0.13 %
  • NIFTY17101.95-0.05 %
  • GOLD(MCX 10 GM)47875-1.15 %
  • SILVER(MCX 1 KG)61247-2.76 %
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Prayagraj
  • Controversial Poster Of Varun' Gandgi , Welcome: Prayagraj Secretary City Congress Committee Irshad Ulla Asked To Respond Within 24 Hours, May Be Expelled From The Party

वरुण का विवादित पोस्टर जारी करने पर नोटिस:प्रयागराज कांग्रेस कमेटी के सचिव इरशाद उल्लाह को 24 घंटे के अंदर देना होगा जवाब, पार्टी से हो सकता है निष्कासन

प्रयागराज4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रयागराज में इरशाद उल्लाह द्वारा जारी किया गया विवादित पोस्टर।

भाजपा के पीलीभीत से सांसद वरुण गांधी के विवादित पोस्टर से उत्तर प्रदेश कांग्रेस में खलबली मच गई है। प्रयागराज के शहर कांग्रेस कमेटी के सचिव इरशाद उल्लाह की ओर से जारी इस पोस्टर में वरुण गांधी और सोनिया गांधी की तस्वीर भी है। पोस्टर में लिखा है दुख भरे दिन बीते रे भैया अब सुख आयो रे। ऊपर रेड कलर में सुस्वागतम लिखा हुआ है। पोस्टर के सामने आने के बाद शहर कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष प्रदीप नारायण द्विवेदी ने इरशाद उल्लाह को नोटिस जारी किया है। उनसे 24 घंटे के अंदर जवाब देने को कहा है।

इरशाद पर पार्टी की छवि धूमिल करने का आरोप
कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष प्रदीप नारायण द्विवेदी की ओर से जारी नोटिस में कहा गया है कि इरशाद उल्लाह की तरफ से लगातार किए जा रहे कार्य से पार्टी की छवि को नुकसान पहुंच रहा है। पार्टी ने उनसे जवाब मांगा है। यदि जवाब संतोषजनक नहीं मिला तो पार्टी सदस्यता समेत सभी पदों से निष्कासित कर देगी।

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में सीबीआई जांच की मांग की थी
कांग्रेस कार्यकर्ता की ओर से जारी पोस्टर को वरुण गांधी के कांग्रेस में शामिल होने की अटकलों से जोड़कर देखा जा रहा है। वरुण गांधी ने लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में किसानों के समर्थन में ट्वीट किए थे। इससे बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व नाराज चल रहा था। उन्होंने लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में सीएम योगी को पत्र लिखकर सीबीआई जांच कराने की मांग उठाई थी।

इसके अलावा घटना का वीडियो शेयर कर गुस्सा जाहिर किया था। किसानों की मांग के समर्थन में सरकार को पत्र भी लिखा था। माना जा रहा है कि इन सभी वजहों से पार्टी उनसे नाराज चल रही है। यही कारण है कि वरुण गांधी और भारतीय जनता पार्टी के बीच सब कुछ सामान्य नहीं है। इस बात को उस समय और बल मिल गया जब बीजेपी ने लखीमपुर घटना के बाद वरुण गांधी और उनकी मां मेनका गांधी को भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में शामिल नहीं किया। इसे बीजेपी की वरुण गांधी और मेनका गांधी से नाराजगी से जोड़कर देखा जा रहा है।

खबरें और भी हैं...