पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

यूपी बोर्ड 10वीं का रिजल्ट:88.18% परीक्षार्थी पास; लड़कियों ने फिर मारी बाजी, कानपुर के प्रिंस यूपी के टॉपर

प्रयागराज3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

यूपी माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड की 10वीं के नतीजे आ गए। बोर्ड अधिकारियों का दावा है कि इस बार का रिजल्ट 11 साल में सबसे अच्छे आए हैं। इस बार 88.18% स्टूडेंट्स पास हुए हैं। इस बार भी लड़कियों ने बाजी मारी है। लड़के 85.25% पास हुए। जबकि लड़कियां 91.69% पास हुईं हैं। कानपुर नगर के प्रिंस पटेल ने 97.67% के साथ यूपी में टॉप किया है। मुरादाबाद की संस्कृति दूसरे, जबकि कन्नौज के अनिकेत शर्मा तीसरे पायदान पर रहे हैं।

कानपुर का दबदबा, टॉप10 में 5 यहीं के विद्यार्थी
यूपी बोर्ड के टॉप-10 परीक्षार्थियों में कानपुर के छात्रों का दबदबा रहा है। पहली रैंक से लेकर दसवीं तक कानपुर के कुल 5 परीक्षार्थियों ने टॉप किया है। यूपी के टॉप-10 में कुल 27 बच्चे हैं। 2022 यूपी बोर्ड परीक्षा में 25 लाख 20 हजार 634 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। इसमें कुल 22 लाख 22 हजार 745 बच्चे पास हुए। इसमें 11 लाख 69 हजार 488 लड़के, जबकि 10 लाख 53 हजार 257 लड़कियां पास हुईं हैं।

रिजल्ट आते ही परीक्षार्थियों ने सेलिब्रेट शुरू कर दिया।
रिजल्ट आते ही परीक्षार्थियों ने सेलिब्रेट शुरू कर दिया।

पिछले साल यानी 2021 में कोरोना के चलते परीक्षा रद्द कर दी गई थी। स्टूडेंट्स को प्रमोट कर दिया गया था। बता दें कि 4 साल बाद नतीजों का ऐलान प्रयागराज से हो रहा है।

आइए आपको यूपी के टॉप-10 टॉपर के बारे में बताते हैं...

5 सालों से बढ़ता आया रिजल्ट
वर्ष 2022 का यूपी बोर्ड दसवीं का रिजल्ट 88.18% रहा है। पिछले कुछ सालों से यूपी बोर्ड नतीजों में शिक्षकों की नरमी का फायदा छात्रों को मिल रहा है। 2021 के नतीजे कोविड संक्रमण की वजह से घोषित नहीं हुए थे। जबकि 2020 की बोर्ड की दसवीं परीक्षा में 83.31% बच्चे पास हुए थे। इससे पहले 2019 में 80.07% बच्चे पास हुए थे। 2018 में 80.07% बच्चों ने बाजी मारी थी।

रिजल्ट का ऐलान बोर्ड डायरेक्टर डॉ. सरिता तिवारी और सचिव दिव्यकांत शुक्ला ने प्रयागराज में किया।
रिजल्ट का ऐलान बोर्ड डायरेक्टर डॉ. सरिता तिवारी और सचिव दिव्यकांत शुक्ला ने प्रयागराज में किया।

2020 की तुलना में इस बार का रिजल्ट खुश करने वाला रहा....

  • 4.87% परीक्षार्थी ज्यादा पास हुए
  • 5.37% लड़के ज्यादा पास हुए
  • 4.40 लड़कियां ज्यादा पास हुईं
कानपुर के घाटमपुर के अनुभव इंटर कॉलेज के प्रिंस पटेल ने यूपी में टॉप किया।
कानपुर के घाटमपुर के अनुभव इंटर कॉलेज के प्रिंस पटेल ने यूपी में टॉप किया।
मुरादाबाद की संस्कृति ठाकुर ने 97.50% के साथ दूसरा स्थान हासिल किया है।
मुरादाबाद की संस्कृति ठाकुर ने 97.50% के साथ दूसरा स्थान हासिल किया है।
कन्नौज के विद्या मंदिर के छात्र अनिकेत शर्मा 97.33% के साथ तीसरे स्थान पर है। उसने कहा कि मुझे मेरी मेहनत का फल मिला है।
कन्नौज के विद्या मंदिर के छात्र अनिकेत शर्मा 97.33% के साथ तीसरे स्थान पर है। उसने कहा कि मुझे मेरी मेहनत का फल मिला है।

इन 2 वेबसाइट्स पर देखे जा रहे रिजल्ट माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा देने वाले स्टूडेंट्स अपने परिणाम आधिकारिक वेबसाइट upmsp.edu.in और upresults.nic.in पर देखे हैं। शाम 4 बजे इंटरमीडिएट का रिजल्ट घोषित किया जाना है।

नतीजे जारी होते ही वेबसाइट पर में दिक्कत भी हुई। लेकिन, परीक्षार्थियों का हौसला कहीं कम नहीं हुई।
नतीजे जारी होते ही वेबसाइट पर में दिक्कत भी हुई। लेकिन, परीक्षार्थियों का हौसला कहीं कम नहीं हुई।

अंग्रेजी का पर्चा लीक होने के बाद 24 जिलों के पर्चे हुए थे रद्द
बोर्ड एग्जाम के दौरान 30 मार्च को 12वीं की परीक्षा में अंग्रेजी का पर्चा बलिया में लीक हो गया था। इसके चलते 24 जिलों की परीक्षा को रद्द कर दिया गया था। बाद में इन जिलों में अलग से परीक्षा कराई गई थी। इस मामले में बलिया के जिला विद्यालय निरीक्षक यानी DIOS समेत तमाम लोगों के खिलाफ पुलिस और STF ने कार्रवाई की थी। बाद में बलिया के DIOS को जेल जाना पड़ा था। हालांकि प्रदेश सरकार ने बोर्ड परीक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम किए थे। सभी परीक्षा केंद्रों पर CCTV लगे थे। सुरक्षा के भी व्यापक इंतजाम किए गए थे।

पिछले साल कोरोना के कारण नहीं हुई थी परीक्षा
पिछले साल 2021 में कोरोना महामारी के कारण यूपी बोर्ड ने 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं रद्द कर दी थीं। कक्षा 9 की वार्षिक परीक्षा और कक्षा 10 की इंटरनल एग्जाम में मिले नंबर के आधार पर 10वीं का रिजल्ट तैयार हुआ। वहीं इंटरमीडिएट में छात्रों के 10वीं, 11वीं और 12वीं के इंटरनल नंबरों को आधार बनाया था। 10वीं में 99.52 फीसदी और 12वीं में 97.88 फीसदी छात्र पास हुए थे।

43 दिन पहले घोषित हुए रिजल्ट
माध्यमिक शिक्षा परिषद ने 2021 में यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इंटरमीडिएट का परिणाम 31 जुलाई को घोषित किया था। इस बार बोर्ड ने 18 जून को परीक्षा परिणाम घोषित करने का ऐलान किया है। इस तरह अगर देखा जाए तो पिछले साल की तुलना में इस बार 43 दिन पहले ही रिजल्ट घोषित किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...