पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

साहब ! बहू के अत्याचार से हमें बचाइए:प्रयागराज के हंडिया में पुलिस से गुहार लगा रहे बुजुर्ग दंपति, दिव्यांग पोते समेत बहू ने कर दिया था बेदखल, दबंगों के साथ करती प्रताड़ित

हंडिया, प्रयागराज4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस से गुहार लगाते दंपती।

हंडिया कोतवाली क्षेत्र के भीटी गांव निवासी कृष्ण प्रसाद जायसवाल बहू की प्रताड़ना से परेशान होकर पत्नी और पोते के साथ घर छोड़कर दर-दर भटकने को मजबूर हैं। कृष्णा प्रसाद जायसवाल ने अपने दिव्यांग बेटे सुनील की शादी हंडिया के कटहरा गांव निवासी विजय कुमार जायसवाल की बेटी रिंकी के साथ 2007 में कराई थी। शादी के बाद लगभग चार साल तक रिंकी बहू के रूप में कृष्णा प्रसाद के घर पर रही। उसी दौरान बहू ने एक दिव्यांग बेटे को जन्म दिया।

यह है पूरा मामला

बुजुर्ग दंपति का आरोप है कि बेटे को जन्म देने के बाद से ही अपने बेटे को छोड़कर चली गई। पति द्वारा काफी मान मनौव्वल के बाद जब रिंकी नहीं आई तो पति ने न्यायालय में विवाद विच्छेद का मुकदमा दायर किया, जिस पर पति सुनील कुमार के पक्ष में मुकदमे की डिग्री हो गई। बुजुर्ग दंपति ने बताया कि बहू रिंकी अपने कुछ दबंग किस्म के लोगों के साथ फिर से ससुराल आ गई और अब सास-ससुर को प्रताड़ित कर रही है । उन्हें जान से मारने की धमकी के साथ घर से बेदखल कर दिया। जिसके बाद बुजुर्ग दंपत्ति के द्वारा कई बार बड़ौत चौकी व हंडिया कोतवाली में शिकायत की गई। पीड़ित बुजुर्ग दंपति ने कहा कि हम अपने विकलांग पोते के साथ दर भटकते हुए प्रशासन से न्याय की गुहार लगा रहे हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही।

पुलिस बोली-पारिवारिक विवाद है

इस मामले में हंडिया इंस्पेक्टर केशव वर्मा का कहना है कि यह पारिवारिक विवाद है दोनों पक्षों को थाने पर बुलाया गया है। दोनों पक्षों को समझाया जाएगा। अगर इसके बाद भी महिला अपनी सास ससुर को प्रताड़ित करेगी उस पर उचित कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...