पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रतापगढ़ में पूर्व मंत्री समेत 50 पर FIR:पूर्व MLA की लाइसेंसी रिवाल्वर भी जब्त, टिकट की दावेदारी को लेकर सपाइयों में हुई मारपीट

प्रतापगढ़एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतापगढ़ में आयोजित समाजवादी पार्टी (सपा) की सभा में जमकर मारपीट। - Money Bhaskar
प्रतापगढ़ में आयोजित समाजवादी पार्टी (सपा) की सभा में जमकर मारपीट।

प्रतापगढ़ में समाजवादी पार्टी (सपा) की सभा में जमकर मारपीट हुई। मंच पर टिकट की दावेदारी पर बात चल रही थी, तभी किसी ने आलोचना कर दी। मामला इतना बिगड़ा कि मारपीट शुरू हो गई। पूर्व मंत्री शिवाकांत ओझा के समर्थकों ने 12 से ज्यादा सपा नेताओं और कार्यकर्ताओं को पीटना शुरू कर दिया। मारपीट के दौरान असलहे भी लहराए गए।

उधर, मामले में सपा नेता बृजेश यादव की तहरीर पर पूर्व मंत्री शिवाकांत ओझा और उनके बेटे पूर्णांशु ओझा समेत 50 पर FIR दर्ज हो गई है। वहीं, पूर्व विधायक सैय्यद अली का लाइसेंसी रिवाल्वर पुलिस ने जब्त कर ली गई है।

शिवाकांत ओझा के इशारे पर पिटाई का आरोप

मामला रानीगंज कोतवाली के मिर्जापुर चौराही इलाके का है। सपा की ओर से सभा का आयोजन किया गया था। मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व कैबिनेट मंत्री आरके चौधरी शामिल हुए थे। टिकट को लेकर बातचीत चल रही थी। धीरे-धीरे तनातनी बढ़ती चली गई।

आरोप है कि आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर पूर्व मंत्री शिवाकांत ओझा के समर्थकों ने पूर्व विधायक सैय्यद अली और सपा के जिला महासचिव अब्दुल कादिर जिलानी, सपा नेता बृजेश यादव समेत 12 से ज्यादा कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। इसे अफरा-तफरी का माहौल हो गया। बाद में, पीड़ित सपा नेता नारेबाजी करते हुए सभा का बहिष्कार करके चले गए।

इसलिए हुआ विवाद
बताया जा रहा है कि पूर्व विधायक सैय्यद अली मंच से पूर्व मंत्री को नसीहत दे रहे थे। पूर्व मंत्री ने खुद सैय्यद अली के पास पहुंच कर अपने समर्थकों को इशारा किया। हालत ये हो गई कि पूर्व विधायक और उनके साथियों को मंच से कूदकर जान बचाकर भागना पड़ा।

सपा नेता विधानसभा रानीगंज से टिकट के मांग रहे थे। सपा नेता बृजेश यादव का आरोप है कि सभा के मंच पर पूर्व मंत्री शिवाकांत ने जमकर गुंडई कराई है। कपड़े तक फाड़ डाले गए। उन्होंने पूर्व मंत्री शिवाकांत ओझा को सपा से निकालने की मांग की है।

शिवाकांत ओझा ने किया मारपीट से इनकार
उधर, शिवाकांत ओझा ने कहा कि मंच पर कुछ बात हुई है, ये कार्यकर्ताओ के बीच होता रहता है। मारपीट किसी के साथ नही की गई है। इस पूरे मामले में रानीगंज के सीओ अतुल अंजान त्रिपाठी का कहना है कि तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

भाजपा विधायक का तंज
रानीगंज के भाजपा विधायक धीरज ओझा ने तंज कसते हुए कहा कि यही समाजवादी पार्टी का असली रूप है। जो खुद संगठित नहीं हैं, वो जनता का भला क्या करेंगे। गुंडई और अपराध सपा का पुराना चेहरा है।