पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाउंड्रीवाल गेट सहित धराशायी, मासूम की मौत:बानेमऊ के स्कूल में हादसा, दो मासूमों की हालत गंभीर, चार महीने पहले हुई थी रिपेयरिंग

कुण्डाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्कूल की बाउंड्रीवाल गेट सहित धराशायी होने से मासूम की गई जान। - Money Bhaskar
स्कूल की बाउंड्रीवाल गेट सहित धराशायी होने से मासूम की गई जान।

विकास खंड कुंडा के बानेमऊ गांव मे बुधवार सुबह 7:25 पर प्राथमिक स्कूल का गेट बाउंड्री वाल समेत भरभरा कर गिर गया, जिसकी चपेट में आने से 3 मासूम बच्चे घायल हो गए। उन्हें मौके पर मौजूद लोग सीएससी कुण्डा ले गए। अस्पताल में घायलों में एक मासूम बच्चे की मौत हो गई, वहीं दो बच्चों का इलाज किया जा रहा है। मौत की खबर से गांव में मातम मच गया। वहीं लोग स्कूल निर्माण की गुणवत्ता पर सवाल उठा रहे हैं कि कैसे चंद महीने पूर्व रिपेयर और रंग रोगन हुए स्कूल की बाउंड्री वॉल का गेट भरभरा कर गिर गया।

बाउंड्री वॉल गिरने से चपेट में आए बच्चे का चल रहा इलाज।
बाउंड्री वॉल गिरने से चपेट में आए बच्चे का चल रहा इलाज।

चंद माह पूर्व हुआ था स्कूल का रिपेयरिंग कार्य और रंग रोगन

बानेमऊ गांव के लोग बताते हैं कि जिस प्राथमिक स्कूल का गेट गिरा है उसका अभी चंद माह पहले ही रिपेयरिंग का काम किया गया था। विद्यालय का रंग रोगन किया गया था, लेकिन शायद उसके कमजोर हिस्से की तरफ किसी ने ध्यान नहीं दिया। जिसके कारण आज बाउंड्री वॉल भरभरा कर गिर गई और चपेट में आकर मासूम को जान गंवानी पड़ गई।

घटना की सूचना पर मौके पर पहुंचे कुंडा के एसडीएम और बीएसए प्रतापगढ़ ने ली जानकारी।
घटना की सूचना पर मौके पर पहुंचे कुंडा के एसडीएम और बीएसए प्रतापगढ़ ने ली जानकारी।

मौके पर पहुंचे कुंडा के एसडीएम और बीएसए प्रतापगढ़

बानेमऊ गांव में हुई घटना की सूचना मिलने पर कुंडा के उप जिलाधिकारी सतीश चंद्र त्रिपाठी और प्रतापगढ़ के जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी घटनास्थल पर पहुंचे। मौके पर घटना के संबंध में जानकारी जुटाई। विद्यालय में हुए हादसे के मामले में भवन निर्माण की गुणवत्ता के बारे मे जानने की भी कोशिश की, लेकिन सबसे बड़ा सवाल ये है कि यदि मजबूत निर्माण हुआ होता और रिपेयरिंग के समय गेट समेत बाउंड्री वॉल की कमजोरी पर ध्यान दिया गया होता तो शायद आज मासूमों के साथ इस तरह की घटना न घटती।

खबरें और भी हैं...