पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अग्रिनपथ पर युवाओं के समर्थन में वरुण:ट्वीट कर कहा-मुकदमे की धमकी से डरा रही सरकार, इससे बंद होंगे बातचीत के रास्ते

पीलीभीत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सांसद वरुण गांधी। - Money Bhaskar
सांसद वरुण गांधी।

सांसद वरुण गांधी एक बार फिर अग्निपथ स्किम का विरोध करने वाले छात्रों के समर्थन में खड़े नजर आए हैं। सांसद वरुण गांधी ने कहा कि सरकार मुकदमे की धमकी से डरा रही है, इससे बातचीत के रास्ते बंद होंगे। वरुण ने ट्वीट कर लिखा, ' कभी मुकदमे तो कभी NOC न देने की धमकी देकर हम ही संवाद के रास्ते बंद कर रहे है। कोई नई योजना लागू करने से पहले रिक्त पड़े लाखों पदों को भरने का ब्लूप्रिंट छात्रों से साझा करे सरकार। यही वक्त की सबसे बड़ी मांग है।

सांसद ने अपना एक वीडियो भी साझा किया है, जिसमें सांसद वरुण गांधी छात्रों के हित की बात करते नजर आ रहे हैं। वरुण ने वीडियो में कहा, 'हर दिन सरकार अनेकों घोषणाएं कर रही है, जो हैरान करने वाली हैं। सेना से बाहर निकलने वाले अग्निवीरों के लिए सरकार के अलग-अलग मंत्रालयों में अपने-अपने संबंधित विभागों में नौकरी देने की बात रोज सामने रखी जाती है।

वरुण गांधी ने छात्रों के समर्थन में किया ट्वीट।
वरुण गांधी ने छात्रों के समर्थन में किया ट्वीट।

वरुण गांधी बोले, नौकरी देने की होड़ में सरकार के साथ उतरे उद्यमी
वरुण गांधी ने कहा-नौकरी देने की होड़ में अब देश के बड़े-बड़े उद्योगपति भी शामिल हो गए हैं। सबने अपनी अपनी कंपनियों में इन अग्निवीरों को नौकरी देने की बात कही है। सरकार और उद्यमियों द्वारा किए गए वादे स्वागत योग्य है। अग्निपथ योजना को लेकर विरोध कर रहे युवाओं का आंदोलन तत्काल खत्म हो जाना चाहिए। सरकार को युवाओं से बात करनी चाहिए। योजना को लेकर सारे असमंजस क्लियर कर देने चाहिए। उन्होंने कहा कि मैने कई युवाओं से इस संबंध में बात की। उनकी राय जाननी चाही तो सामने आया कि युवा इन आश्वासनों को लेकर उदासीन है। युवाओं के अपने तर्क हैं जो सरकारी आंकड़ों पर आधारित है। आंकड़े पूर्व सैनिकों के प्रति सरकार की उदासीनता का परिचय देते हैं।

ग्रुप सी दस लाख पद पड़े हैं खाली
सरकार के 34 विभागों में ग्रुप सी के कर्मचारियों की संख्या 10 लाख से अधिक है। इनमें से पूर्व सैनिकों की संख्या महज 13976 है, जो कुल नौकरियों का कुल 1.25 परसेंट है। वहीं इन 34 सरकारी विभागों में ग्रुप डी में कुल 325265 भर्तियां है, जिनमें से पूर्व सैनिक मात्र 8442 है। अगर इन आंकड़ों को देखें तो तमाम सरकारी और गैर सरकारी विभागों द्वारा अगर इन आंकड़ों को देखें, तो अग्निवीरों को नौकरी देने की बात महज खानापूर्ति लगती है। सांसद ने कहा-सरकार अगर अग्निवीरों को नौकरी देने के लिए इतनी ही गंभीर है तो वह यह भी बताएं कि देश में एक करोड़ से भी अधिक सरकारी पद रिक्त क्यों है। युवाओं ने यही सवाल देश के उद्यमियों से भी किया है। मुझे पूरी उम्मीद है कि युवाओं को इसका जवाब जरूर मिलेगा और उनकी परेशानियां हल होंगी।

तोड़फोड़ के जरिए प्रदर्शन करने की लोकतंत्र में कोई जगह नहीं
वरुण गांधी ने कहा कि किसी भी तरह की तोड़फोड़ जाओगे प्रदर्शन के लिए हमारे लोकतंत्र में कोई स्थान नहीं सेना ने यह साफ कहा है कि जिन जिन युवाओं के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान पुलिस एफ आई आर दर्ज करेगी उन्हें आर्मी में बाहरी नहीं मिलेगी सरकार को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि किसी एक भी निर्दोष हुआ के खिलाफ झूठा मामला न दर्ज हुआ हो। हालांकि, जब प्रशासन खुद युवाओं के आंदोलन को खत्म करने पर आमादा है, तो यह कौन सुनिश्चित करेगा कि FIR का गलत इस्तेमाल निर्दोषों को फंसा कर आंदोलन को दबाने के लिए नहीं किया जाएगा। न्यायालय और सरकारों से उम्मीद है कि वह इस दिशा में भी गौर करेंगे। साथियों आप अहिंसा के रास्ते पर चल कर अपनी बात सरकार तक रखें न्याय अवश्य होगा।

वरुण गांधी अक्सर अपनी ही सरकार की नीतियों का विरोध कर सुर्खियों में बने रहते हैं। कृषि कानून को लेकर किसान आंदोलन के दौरान वह किसानों के साथ खड़े नजर आए थे। देश में रिक्त पदों को लेकर भी वह सवाल उठाते रहे हैं। हाल ही में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर अग्निपथ योजना के तमाम तथ्यों को अभ्यर्थियों के सामने रखने की मांग की थी।

ये हैं वरुण के सरकार पर पहले के ट्वीट वार

  • इससे पहले वरुण गांधी ने लिखा था कि अग्निपथ योजना को लाने के बाद मैच कुछ घंटों के भीतर इस में किए गए संशोधन यह दर्शाते हैं कि संभवत योजना बनाते समय सभी बिंदुओं को ध्यान में नहीं रखा गया। वरुण गांधी ने लिखा जब देश की सेना सुरक्षा और युवाओं के भविष्य का सवाल हो, तो पहले प्रहार फिर विचार करना एक संवेदनशील सरकार के लिए उचित नहीं है।
  • वरुण गांधी ने कुछ दिन पहले ट्वीट कर छात्रों से अपील की थी कि धैर्य से काम लें और लोकतांत्रिक मर्यादा बनाए रखते हुए अपने ज्ञापन विभिन्न माध्यमों से सरकार तक पहुंचाए सुरक्षित भविष्य हर युवा का अधिकार है। न्याय होगा इसके साथ वरुण गांधी ने अभ्यार्थियों के संघर्ष में हर कदम पर उनके साथ खड़े होने की बात भी कही थी.
  • वरुण गांधी ने SSC GD 2018 की परीक्षा पास कर चुके अभ्यर्थियों का एक वीडियो ट्वीट किया था। ये अभ्यार्थी 47 डिग्री तापमान में नागपुर से दिल्ली तक का पैदल आ रहे हैं। इन अभ्यर्थियों का मेडिकल भी हो चुका है, लेकिन उसके बाद भी इन्हें ज्वाइनिंग लेटर नहीं मिला है। उसी के विरोध में ये लोग पैदल मार्च कर रहे हैं। वरुण ने ट्वीट करके इन अभ्यार्थियों को रोजगार देने की मांग की थी।