पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पीलीभीत में बोले वरुण गांधी:लोकतंत्र में शांतिपूर्वक प्रदर्शन करना सभी का अधिकार, बिहार के विधायक हरभूषण पर साधा निशाना

पीलीभीत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सांसद वरुण गांधी।

सांसद वरुण गांधी एक बार फिर अग्निपथ कानून का विरोध कर रहे युवाओं के समर्थन में नजर आए हैं। वरुण गांधी ने ट्विटर पर लिखा कि लोकतंत्र में शांतिपूर्ण प्रदर्शन सबका अधिकार है। उन्होंने कैलाश विजवर्गीय का एक वीडियो भी अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया। इससे पहले भी वरुण गांधी कैलाश विजयवर्गीय के बयानों का पलटवार कर चुके हैं।

अग्निवीर पर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के सिक्योरिटी गार्ड वाले बयान पर भाजपा सांसद वरुण गांधी ने पलटवार किया है। कैलाश के बयान का वीडियो ट्वीट करते हुए रविवार को वरुण ने कहा, 'न्योता देने वाले को ही चौकीदारी मुबारक, भारतीय सेना केवल नौकरी नहीं, बल्कि सेवा का जरिया है।'

वरुण गांधी ने किया ट्वीट।
वरुण गांधी ने किया ट्वीट।

कैलाश विजयवर्गीय बोले थे अग्निवीरों को भाजपा कार्यालय में मिलेगी चौकीदार की नौकरी

दरअसल, कैलाश विजयवर्गीय रविवार को इंदौर में एक प्रेस कांफ्रेंस के जरिए अग्निपथ योजना की खास बातें बता रहे थे। तभी उन्होंने कहा, 'अग्निवीरों को सेना से रिटायरमेंट के बाद रोजगार के कई अवसर मिलेंगे। यदि उन्हें भाजपा के दफ्तर में सिक्योरिटी गार्ड रखने हों तो वह अग्निवीर जवानों को ही प्राथमिकता देंगे। उनके इस बयान का चारों तरफ विरोध होने लगा है। हालांकि बाद में महासचिव ने सफाई दी कि उनके बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है।

बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने ट्विटर पर एक वीडियो साझा कर लिखा जब किसान अपने अधिकार के लिए सड़क पर उतरे तो वह खालिस्तानी, युवा सेना में बहाली को लेकर सड़कों पर आए तो वह जिहादी। देशभक्त युवा मां भारती की सेवा का भाव मन में लिए दधीचि की तरह अपनी हड्डियों को गलाता है। तब जाकर फौज में नौकरी पाता है लोकतंत्र में शांतिपूर्ण प्रदर्शन सबका अधिकार है।

वरुण गांधी का युवाओं के समर्थन में ट्वीट।
वरुण गांधी का युवाओं के समर्थन में ट्वीट।

बिहार के विधायक हरभूषण ठाकुर के वीडियो को किया ट्वीट

सांसद वरुण गांधी ने एक वीडियो ट्वीट किया है उसमें बिहार के विधायक हरभूषण ठाकुर कहते नजर आ रहे हैं कि अग्निपथ कानून को लेकर जो विरोध हो रहा है पर जेहादी व समीकरण वादी लोगों द्वारा किया जा रहा है। यह वह लोग हैं जो समीकरण बनाकर सरकार बनाना चाहते थे। उन्होंने कहा कि जो युवा हैं और जिनमें देश के लिए कुछ करने की ललक है वह सब खुश हैं। वीडियो में एक शख्स साफ कहता नजर आ रहा है कि यह सेना की नौकरी नहीं है देश सेवा है।

देश भक्ति सस्ती चीज नहीं है। सेना की नौकरी में सर देकर सौदा होता है यहां मरने की ही शपथ ली जाती है जो लोग तमाम सुविधाएं देखना चाहते हैं उन लोगों की सेना में आवश्यकता नहीं है बहुत से देश है जहां सेना में जाना सबके लिए कंपलसरी है मिथिला यूनिवर्सिटी में 6 साल में बीए की डिग्री मिलती है हम 4 साल में सैनिक को ट्रेंड करते हुए पैसा व नौकरी दोनों दे रहे हैं।