पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अग्निवीरों के लिये पेंशन छोड़ें सांसद और विधायक:वरुण ने सरकार से किया सवाल- राष्ट्ररक्षकों को पेंशन नहीं तो जनप्रतिनिधियों को क्यों मिले

पीलीभीत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पीलीभीत के सांसद वरुण गांधी ने ट्वीट कर अग्निवीरों के मामले पर अब सभी जनप्रतिनिधियों को कटघरे में खड़ा कर दिया है। उन्होंने कहा है कि, अल्पअवधि की सेवा के बाद जब राष्ट्ररक्षकों को पेंशन की सुविधा नहीं है तो हम प्रतिनिधियों को पेंशन की सहूलियत क्यों? इससे पहले भी वरुण केंद्र सरकार की अग्निवीर योजना को लेकर सवाल खड़े कर चुके हैं।

शुक्रवार को बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, राष्ट्र रक्षकों को पेंशन का अधिकार नहीं है तो मैं भी खुद की पेंशन छोड़ने को तैयार हूं। वरुण गांधी ने जनप्रतिनिधियों से अपील की कि, हम सब अपनी पेंशन छोड़ें ताकि अग्निवीरों को पेंशन मिले।

वरुण गांधी का ट्वीट।
वरुण गांधी का ट्वीट।

अग्निपथ योजना का किया था विरोध
यह कोई पहला मौका नहीं जब बीजेपी सांसद वरुण गांधी अपने ही सरकार की नीतियों के खिलाफ मोर्चा खोला हो। इससे पहले सांसद अग्निपथ स्किम का विरोध करने वाले छात्रों के समर्थन में खड़े नजर आए थे। सांसद वरुण गांधी ने कहा था कि, सरकार मुकदमे की धमकी से डरा रही है, इससे बातचीत के रास्ते बंद होंगे।

खाली पड़े पदों को भरने की थी मांग
वरुण गांधी ने ट्वीट कर लिखा था कि, ' कभी मुकदमे तो कभी NOC न देने की धमकी देकर हम ही संवाद के रास्ते बंद कर रहे है। कोई नई योजना लागू करने से पहले रिक्त पड़े लाखों पदों को भरने का ब्लूप्रिंट छात्रों से साझा करे सरकार। यही वक्त की सबसे बड़ी मांग है।

ट्वीटर पर एक वीडियो शेयर करते सांसद ने रिक्त पड़े लाखों पदों को भरने का ब्लूप्रिंट छात्रों से साझा करने की मांग सरकार से की थी।
ट्वीटर पर एक वीडियो शेयर करते सांसद ने रिक्त पड़े लाखों पदों को भरने का ब्लूप्रिंट छात्रों से साझा करने की मांग सरकार से की थी।

कृषि कानून, बेरोजगारी जैसे तमाम जनता से जुड़े मुद्दे पर वरुण गांधी सरकार को कटघरे में खड़ा करते आ रहे हैं। बीजेपी सांसद लगातार अपनी ही सरकार की नीतियों के खिलाफ हमलावर नजर आते रहे हैं।

ये हैं वरुण के सरकार के खिलाफ पहले के ट्वीट वार

  • इससे पहले वरुण गांधी ने लिखा था कि अग्निपथ योजना को लाने के बाद मैच कुछ घंटों के भीतर इस में किए गए संशोधन यह दर्शाते हैं कि संभवत योजना बनाते समय सभी बिंदुओं को ध्यान में नहीं रखा गया। वरुण गांधी ने लिखा जब देश की सेना सुरक्षा और युवाओं के भविष्य का सवाल हो, तो पहले प्रहार फिर विचार करना एक संवेदनशील सरकार के लिए उचित नहीं है।
  • वरुण गांधी ने कुछ दिन पहले ट्वीट कर छात्रों से अपील की थी कि धैर्य से काम लें और लोकतांत्रिक मर्यादा बनाए रखते हुए अपने ज्ञापन विभिन्न माध्यमों से सरकार तक पहुंचाए सुरक्षित भविष्य हर युवा का अधिकार है। न्याय होगा इसके साथ वरुण गांधी ने अभ्यार्थियों के संघर्ष में हर कदम पर उनके साथ खड़े होने की बात भी कही थी.
  • वरुण गांधी ने SSC GD 2018 की परीक्षा पास कर चुके अभ्यर्थियों का एक वीडियो ट्वीट किया था। ये अभ्यार्थी 47 डिग्री तापमान में नागपुर से दिल्ली तक का पैदल आ रहे हैं। इन अभ्यर्थियों का मेडिकल भी हो चुका है, लेकिन उसके बाद भी इन्हें ज्वाइनिंग लेटर नहीं मिला है। उसी के विरोध में ये लोग पैदल मार्च कर रहे हैं। वरुण ने ट्वीट करके इन अभ्यार्थियों को रोजगार देने की मांग की थी।
खबरें और भी हैं...