पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • UP Assembly News Live Updates 16 January 2022, Samajwadi Party BJP Aam Aadmi Party Big Breaking News Agra Lucknow Kanpur Varanasi Prayagraj Meerut

यूपी चुनाव में फिर कैराना की एंट्री:दिन में योगी ने कहा- सपा ने पलायन के आरोपी को टिकट दिया; शाम को सपा ने टिकट बदला, भाई की जगह बहन को दिया

लखनऊ/मेरठ4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

यूपी चुनाव में एक बार फिर कैराना पलायन का मुद्दा गरमा गया है। रविवार को दिन में योगी आदित्यनाथ ने कैराना पलायन का मुद्दा फिर उठाया। उन्होंने अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि सपा ने कैराना में हिंदू व्यापारियों के पलायन के लिए जिम्मेदार लोगों को टिकट दिया जा रहा है। उनका इशारा कैराना से सपा प्रत्याशी नाहिद हसन की तरफ था। इसके बाद सपा ने शाम को ही कैराना सीट पर प्रत्याशी बदल दिया। पलायन कांड में आरोपी रहे नाहिद हसन की जगह उनकी बहन इकरा को टिकट देकर मैदान में उतार दिया।

गैंगस्टर एक्ट में हुई नाहिद की गिरफ्तारी
इससे पहले शनिवार को कैराना से सपा विधायक और गठबंधन प्रत्याशी नाहिद हसन को पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट में पुलिस ने गिरफ्तार किया था। समन जारी होने पर कल यानी 15 जनवरी को नाहिद हसन कोर्ट में सरेंडर करने गए थे। मगर, इसी दौरान पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद कोर्ट ने नाहिद हसन को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

कैराना से सपा विधायक और गठबंधन प्रत्याशी नाहिद हसन को पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट में गिरफ्तार किया था। नाहिद की मां तबस्सुम भी पूर्व सांसद हैं।
कैराना से सपा विधायक और गठबंधन प्रत्याशी नाहिद हसन को पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट में गिरफ्तार किया था। नाहिद की मां तबस्सुम भी पूर्व सांसद हैं।

वहीं, भाजपा ने कैराना सीट से पलायन का मुद्दा उठाने वाले पूर्व दिवंगत मंत्री हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह को उतारा है। बता दें कि हुकुम सिंह ने ही सबसे पहले कैराना से हिंदुओं के पलायन का मुद्दा उठाया था। इसके बाद यह मामला देशभर में सुर्खियों में रहा था।

अखिलेश ने दिए थे प्रेस कॉन्फ्रेंस में संकेत
इसके बाद रविवार को अखिलेश यादव ने खुद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में संकेत दिया था कि कैराना सीट से हसन के किसी रिश्तेदार को उम्मीदवार बनाया जा सकता है। कैराना में चूंकि नाहिद हसन ही सपा के जिताऊ प्रत्याशी माने जाते हैं। इसलिए सपा नेतृत्व ने उनकी बहन इकरा को टिकट दिया।

नाहिद हसन पर दर्ज हैं 17 मुकदमे
नाहिद हसन पर 17 मुकदमे दर्ज हैं। 2016 में कैराना कांड में उनका नाम आया था। वह गैंगस्टर केस में एक साल से फरार चल रहे थे। भाजपा के तत्कालीन सांसद हुकुम सिंह ने आरोप लगाया था कि सपा सरकार में कैराना से हिंदू पलायन कर रहे हैं। इससे पहले भी नाहिद हसन को 2020 में एक मुकदमे के सिलसिले में एक महीने से ज्यादा जेल में रहना पड़ा था। फरवरी, 2021 में नाहिद हसन और उनकी मां तबस्सुम बेगम सहित पुलिस ने 38 अन्य पर गैगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की थी।

नाहिद हसन की सगी बहन हैं इकरा
नाहिद हसन पूर्व विधायक मुनव्वर हसन के बेटे हैं। नाहिद की मां तबस्सुम पूर्व सांसद हैं। उन्होंने 2018 के उप-चुनाव में कैराना से चुनाव जीता था। इकरा नाहिद हसन की सगी बहन हैं।

इससे पहले सपा विधायक नाहिद ने एक विवादित बयान देकर पश्चिमी यूपी की मुस्लिम-जाट सियासत में नया बखेड़ा कर दिया था। उन्होंने एक वीडियो जारी कर कहा था कि जाटों की दुकानों से सामान खरीदना बंद कर दें। उन्होंने मुसलमानों से एकजुट रहने और मुसलमान कारोबारियों को ही बढ़ाने का संदेश दिया था।

नाहिद हसन नहीं, बहन इकरा लड़ेंगी चुनाव:शामली की कैराना सीट से सपा ने बदला प्रत्याशी; नाहिद हसन को पुलिस ने गिरफ्तार कर भेजा था जेल

  • चुनाव से जुड़ीं अन्य खबर

सपा ने सरधना से अतुल प्रधान और हस्तिनापुर से योगेश वर्मा को उतारा

समाजवादी पार्टी ने मेरठ की सरधना सीट से अतुल प्रधान को टिकट दिया है।
समाजवादी पार्टी ने मेरठ की सरधना सीट से अतुल प्रधान को टिकट दिया है।

समाजवादी पार्टी ने मेरठ की सरधना सीट से अतुल प्रधान को टिकट दिया है। उनका मुकाबला भाजपा के संगीत सोम से हैं। वहीं, मेरठ की हस्तिनापुर सीट से पूर्व विधायक योगेश वर्मा को पार्टी ने अपना प्रत्याशी बनाया है। यह सीट आरक्षित सीट है। भाजपा से यहां मंत्री दिनेश खटीक चुनाव लड़ रहे हैं। योगेश वर्मा को दलित हिंसा कराने के आरोप में भाजपा सरकार ने गिरफ्तार कर जेल भेजा था। कुछ महीने पहले ही अखिलेश यादव के करीबी अतुल प्रधान पूर्व विधायक योगेश वर्मा को सपा में शामिल कराया था।

हस्तिनापुर सीट से योगेश वर्मा को उतारा गया है।
हस्तिनापुर सीट से योगेश वर्मा को उतारा गया है।

सपा ने मेरठ और आस-पास के जिलों में दलितों को साधने के लिए हस्तिनापुर सीट से योगेश वर्मा को टिकट दिया है। हस्तिनापुर सीट पर 1 लाख मुस्लिम, 63 हजार दलित, 56 हजार गुर्जर, 26 हजार जाट, 13 हजार सिख, 10 हजार यादव हैं। मुस्लिम और दलित वोटों के सहारे गठबंधन ने यहां बड़ा दांव खेला है।

उधर, 12 जनवरी को रोड शो निकालने पर सपा नेता अतुल प्रधान समेत 21 के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन समेत अन्य धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है। अतुल प्रधान ने समर्थकों के साथ 11 जनवरी को क्षेत्र के दांदूपुर समेत अन्य गांवों में भीड़भाड़ के साथ जनसंपर्क किया था। इसका वीडियो और फोटो सामने आने के बाद मुकदमा दर्ज किया गया।

मेरठ के हस्तिनापुर से योगेश वर्मा सपा प्रत्याशी:भाजपा सरकार में दलित हिंसा के आरोप में पुलिस ने बेइज्जत कर भेजा था जेल, दलितों को साध रही सपा

लखीमपुर में मारे गए पत्रकार के भाई को कांग्रेस ने दिया टिकट, बोला- मंत्री अजय मिश्र टेनी से बदला लेना है

तिकुनिया हिंसा कांड में मारे गए पत्रकार रमन कश्यप के भाई को कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने टिकट देने का ऐलान किया है।
तिकुनिया हिंसा कांड में मारे गए पत्रकार रमन कश्यप के भाई को कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने टिकट देने का ऐलान किया है।

लखीमपुर में तिकुनिया हिंसा कांड में मारे गए पत्रकार रमन कश्यप के भाई पवन को कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने टिकट देने का ऐलान किया है। पवन को कांग्रेस निघासन विधानसभा से मैदान में उतार सकती है। कांग्रेस ने पवन को टिकट देकर अन्य पार्टियों की मुश्किलें बढ़ा सकती हैं।

पवन कश्यप ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी मुझे निघासन-138 से चुनाव लड़वाना चाहती है। पार्टी के बड़े नेताओं से हमारी बात हुई है। हमने चुनाव लड़ने की सहमति जता दी है। बाकी हम घर जाकर सभी से राय लेने के बाद अपना फैसला सुनाएंगे। लेकिन मेरा चुनाव लड़ना तय ही है।

चुनाव लड़ने के पीछे मेरा मकसद मंत्री अजय मिश्रा से बदला लेना है। जैसा उनके बेटे ने किया है, वैसा तो हम नहीं कर सकते हैं। हां, लेकिन उनको हराकर हम बदला ले सकते हैं। बता दें कि लखीमपुर में अजय टेनी का प्रभाव है। सियासी जानकार बताते हैं कि मंत्री की क्षेत्र में पकड़ को देखते हुए ही भाजपा ने उनके खिलाफ कोई ठोस एक्शन नहीं लिया। यहां पढ़ें पूरी खबर

कमल दत्त शर्मा को प्रत्याशी बनाए जाने का विरोध

भराला के समर्थकों ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के आवास के बाहर हंगामा किया।
भराला के समर्थकों ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के आवास के बाहर हंगामा किया।

मेरठ से भाजपा नेता कमल दत्त शर्मा के प्रत्याशी घोषित किए जाने के साथ गुटबाजी तेज हो गई है। इसी सीट से भाजपा नेता और श्रम कल्याण आयोग के अध्यक्ष सुनील भराला भी टिकट की दावेदारी कर रहे थे। कमल दत्त शर्मा का टिकट घोषित होते ही भराला समर्थकों ने विरोध शुरू कर दिया। भराला के समर्थकों ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के आवास के बाहर हंगामा किया। उन्होंने सुनील भराला को टिकट न मिलने पर नाराजगी जताई है।

सपा से टिकट मांग रहे आदित्य ठाकुर ने की आत्मदाह की कोशिश

अलीगढ़ की छर्रा सीट से टिकट चाहते हैं ठाकुर आदित्य।
अलीगढ़ की छर्रा सीट से टिकट चाहते हैं ठाकुर आदित्य।

समाजवादी पार्टी कार्यालय में चुनावी गहमा-गहमी के बीच रविवार को एक कार्यकर्ता ने खुद पर केरोसिन डालकर जान देने की कोशिश की। कार्यकर्ता का कहना है कि वह अलीगढ़ की छर्रा सीट से चुनाव लड़ने की पांच साल से तैयारी कर रहा था। अब उसकी जगह किसी दूसरे को उम्मीदवार बनाया जा रहा है।

अलीगढ़ से आए ठाकुर आदित्य ने सुबह सपा पार्टी कार्यालय के बाहर आत्मदाह का प्रयास किया। उसने खुद के ऊपर केरोसिन डालकर माचिस की तीली जला दी। हालांकि मौके पर मौजूद पुलिस वालों ने तत्काल उसे पकड़ लिया। पुलिस उसे सिविल अस्पताल ले गई, जहां इलाज के बाद उसे अलीगढ़ के लिए वापस भेजा गया।

कार्यकर्ता के आत्मदाह की कोशिश पर समाजवादी पार्टी अधिवक्ता सभा के अध्यक्ष शमशेर सिंह जगरना ने कहा कि ठाकुर आदित्य कभी पार्टी के प्रत्याशी नही रहे हैं। वह जिस सीट की बात कर रहे वहां से अभी उम्मीदवार की घोषणा भी नही हुई है। ऐसे में किसी को टिकट मिलने या कटने का सवाल ही नही खड़ा होता। उन्होंने कहा कि आदित्य बीजेपी के एजेंट हैं जो सोची समझी साजिश के तहत भेजा गया था।

AIMIM ने वेस्ट यूपी की 9 सीटों पर उतारे उम्मीदवार

यूपी विधानसभा चुनाव में AIMIM ने उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है। असदुद्दीन ओवैसी ने वेस्ट यूपी की 9 सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा की है। AIMIM की तरफ से जारी लिस्ट में डॉ. महताब को लोनी (गाजियाबाद), फुरकान चौधरी को गढ़ मुक्तेश्वर (हापुड़), हाजी आरिफ को धौलोना हापुड़ से उम्मीदवार बनाया गया है।

वहीं, रफत खान को सिवाल खास- मेरठ, जीशान आलम को सरधना- मेरठ, तसलीम अहमद को किठौर- मेरठ, अमजद अली को बहत- सहारनपुर, शाहीन रजा खान (राजू) को बरेली-124, और मरगूब हसन को सहारनपुर देहात से प्रत्याशी बनाया गया है।

गाजियाबाद में BJP प्रत्याशियों का विरोध, मंत्री अतुल गर्ग के खिलाफ पर्चे बांटे

अतुल गर्ग के खिलाफ लाइनपार के लोगों ने इस तरह के पर्चे बांटे हैं।
अतुल गर्ग के खिलाफ लाइनपार के लोगों ने इस तरह के पर्चे बांटे हैं।

गाजियाबाद में भाजपा प्रत्याशियों की सूची जारी होने के बाद सबसे चुनौती भरा काम पार्टी के असंतुष्टों को संतुष्ट करना है। वे विरोधी तेवर दिखा रहे हैं। साहिबाबाद सीट से एक उम्मीदवार के निर्दलीय रूप में पर्चा भरने की चर्चाएं हैं। गाजियाबाद शहर सीट से घोषित प्रत्याशी और मंत्री अतुल गर्ग के खिलाफ भी पर्चे बांटे गए हैं। लोनी प्रत्याशी एवं मौजूदा विधायक नंदकिशोर गुर्जर को लेकर भी लोग सोशल मीडिया में विरोध जता रहे हैं। उन पर पांच साल तक क्षेत्र की उपेक्षा का आरोप है।

खबरें और भी हैं...