पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुफ्फरनगर..जेल कराने वाले ससुर पर जुर्माना:दामाद पर लगाया था दहेज के लिए बेटी का गला घोंटकर हत्या के प्रयास का आरोप

मुजफ्फरनगर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिकात्मक फोटो। - Money Bhaskar
प्रतिकात्मक फोटो।

अतिरिक्त दहेज की मांग करने का झूठा आरोप लगाने वाले ससुर पर कोर्ट ने जुर्माना लगाया है। बेटी से दहेज मांगने का आरोप लगाकर ससुर ने अपने दामाद को जेल भिजवा दिया था। अपनी गलती स्वीकार कर झूठा मुकदमा लिखाने की बात कही तो कोर्ट ने 500 रुपये का अर्थदंड लगाया। हांलाकि कोर्ट बेटी ससुराल वालों को बहुत पहले ही बरी कर चुकी है।

गला घोंट बेटी की हत्या का प्रयास का था आरोप

गांव तेजलहेड़ा निवासी कुंवरपाल की बेटी सुनीता का विवाह 23 जनवरी 2011 को निशांत से हुआ था। कुंवरपाल ने अपने दामाद निशांत, उसके पिता जगत सिंह सहित माता तथा भाई आदि पर बेटी सुनीता से अतिरिक्त दहेज मांगने का आरोप लगाते हुए महिला थाने में 17 मई 2012 को मुकदमा दर्ज कराया था। आरोप लगाया था कि उन लोगों ने अतिरिक्त दहेज की मांग पूरी न होने पर सुनीता के साथ मारपीट की और गला दबाकर उसे जानसे मारने की कोशिश की।

कोर्ट ने साक्ष्य के अभाव में सभी को किया था बरी

पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर निशांत तथा अन्य लोगों के विरुद्ध कार्रवाई की थी। लेकिन जब कोर्ट में मुकदमे की सुनवाई चली तो वादी मुकदमा कुंवरपाल ने सभी आरोपो से इंकार कर दिया था। जिसके बाद तत्कालीन जिला जज रविन्द्र नाथ कक्कड़ ने 27 अगस्त 2015 को सभी आरोपियों को साक्ष्य के अभाव में बरी कर दिया था।

जज ने दिया था पक्षद्रोही पर कार्रवाई का आदेश

जिला जज रविन्द्रनाथ कक्कड़ ने कुंवरपाल को कोर्ट में मुकरने पर पक्षद्रोही घोषित कर दिया था। जिसके बाद उन्होंने कुंवरपाल पर 344 सीआरपीसी के तहत कार्रवाई करने का आदेश जारी किया था। जिसके बाद कुंवरपाल को नोटिस जारी किये गए। मामले की सुनवाई जिला जज चवन प्रकाश की कोर्ट में हुई। कुंवरपाल ने कोर्ट में अपनी गलती स्वीकार की। जिस पर कोर्ट ने दामाद सहित उसके घर वालों पर झूठा केस करने के मामले में कुंवरपाल पर 500 रुपये का जुर्माना लगाया।

खबरें और भी हैं...